Home » कल्चर » navratri 2019 fourth day of chaitra navratri worship of goddess Kushmanda the avatar of maa durga
 

Chaitra Navratri 2019: नवरात्रि के चौथे दिन ऐसे करें मां की पूजा, घर में होगी रूके हुए धन की वर्षा

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 April 2019, 9:11 IST

नवरात्र के चौथे दिन मां कुष्मांडा की पूजा अर्चना की जाती है. ये मां दुर्गा का चौथा स्वरूप है. मां का ये स्वरूप वाणी और बुद्धि दात्री होता है. मां के इस स्वरूप का पूजन विद्या ग्रहण करने के लिए किया जाता है. अगर आपकी बुध कुंडली कमजोर है, तो मां कुष्मांडा की पूजा जरूर करें. पौराणिक मान्यता अनुसार, मां कुष्मांडा सूर्यलोक में निवासनी हैं.

कैसे करें पूजा?

मां कुष्मांडा की पूजा हरे रंग का वस्त्र धारण करके करना चाहिए.
इनकी पूजा के दौरान मां को हरी इलायची, सौंफ या कुम्हड़ा अर्पित करें.
पूजा के दौरान "ॐ कुष्मांडा देव्यै नमः" का 108 बार जाप करें.
मां कुष्मांडा की पूजा के दौरान प्रसाद में माल पुए चढ़ाएं.
नवरात्र के चौथए दिन किसी निर्धन को दान कर दें. ऐसा करने से आपको उचित फल मिलेगा
नवरात्रि के चौथे दिन मां के कुष्मांडा स्वरूप को पान के पत्ते पर रखकर गुलाब की पंखुड़ियां अर्पित करें. ऐसा करने से फंसा और रूका हुआ धन प्राप्त होगा.

बुध है कमजो तो ऐसे करें पूजा

यदि आपको अपने बुध का शक्तिशाली बनाना है, तो मां जितनी आपकी उम्र है, उतनी मां को हरी इलायची अर्पित करें. इसके साथ ही हर बार इलायची अर्पित करते समय "ॐ बुं बुधाय नमः" कहें. इसके बाद अर्पित की गई हरी इलायची को एक हरे कपड़े में एकत्र करके बांधकर रख लें और इसे पास अगली नवरात्रि तक सुरक्षित रखें.

न चीजों के बिना मां दुर्गा की अराधना है अधूरी, जानें कैसे करें मां की पूजा

मां कुष्मांडा का मंत्र:

सुरासम्पूर्णकलशं रुधिराप्लुतमेव च।

दधाना हस्तपद्माभ्यां कूष्माण्डा शुभदास्तु मे॥

व्रत में क्यों खाया जाता है सेंधा नमक? जानें सेहत से जुड़े इसके राज

First published: 9 April 2019, 9:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी