Home » कल्चर » Number of Male Smokers in India Rose 36 Percent Since 1998: Study
 

धूम्रपान करने वालों की संख्या में इजाफा, बीड़ी की जगह सिगरेट पर जोर

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 February 2016, 15:12 IST

भारत में पुरुषों में धूम्रपान करने की आदत में पिछले 17 साल में एक तिहाई से ज्यादा का इजाफा हुआ है. अब धूम्रपान करने वालों की संख्या बढ़कर 10.8 करोड़ हो गई है. इसके अलावा सिगरेट पारंपरिक बीड़ी की जगह ले रही है.

1998 में भारत में धूम्रपान करने वालों की संख्या 7.9 करोड़ थी जो 2015 में बढ़कर 10.8 करोड़ हो गई. अध्ययन की अगुवाई करने वाले टोरंटो विश्वविद्यालय के प्रभात झा ने कहा कि 2010 में धूम्रपान की वजह से लगभग 10 लाख लोगों की मौत हुई जो भारत में होने वाली कुल मौतों का 10 फीसदी है.

इन मौतों में 70 प्रतिशत मौतें 30 से 69 वर्ष की आयु के बीच के लोगों की हुईं, जो कि जीवन का सर्वोत्तम दौर होता है.  अध्ययन में कहा गया है कि पारंपरिक बीड़ी की जगह अब सिगरेट का सेवन तेजी से बढ रहा है. 2015 तक सिगरेट और बीड़ी पीने वाले 15 से 69 वर्ष की आयु समूह के पुरुषों की संख्या मौटे तौर पर बराबर थी.

अध्ययन में यह भी पाया गया है कि 15 से 29 वर्ष के बीच की आयु के पुरुषों में धूम्रपान की लत में तेजी से बढ़ोतरी हुई है. अध्ययन के मुताबिक, शहरी भारत में धूम्रपान करने वालों की संख्या में करीब 68 फीसदी की बढोतरी हुई है जो 1.9 करोड़ से बढ़कर 3.1 करोड़ हो गई है. वहीं ग्रामीण भारत में 26 प्रतिशत का इजाफा हुआ है जो 6.1 करोड़ से बढकर 7.7 करोड़ हो गया है.

शोधकर्ताओं ने कहा कि 15 से 69 वर्ष के बीच के आयु समूह में 1.1 करोड महिलाएं ऐसी हैं जो धूम्रपान करती हैं. यह पुरुषों द्वारा किए जाने वाले धूम्रपान का दसवां हिस्सा है.

First published: 28 February 2016, 15:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी