Home » कल्चर » rajim kumbh 2018 in chhattisgarh, kumbh mela in rajim, rajim kumbh mela in chhattisgarh, popular festival
 

छत्तीसगढ़ के इस शहर में भी होता है कुंभ मेले का आयोजन

न्यूज एजेंसी | Updated on: 28 January 2018, 10:59 IST
(फाइल फोटो)

छत्तीसगढ़ के प्रयागराज राजिम में राजिम कुंभ शुरू होने वाला है. इसके लिए सरकार की ओर से विशेष इंतजाम किए जा रहे हैं. इस साल राजिम कुंभ 31 जनवरी से शुरु होकर 13 फरवरी तक चलेगा. बता दें कि राजिम कुंभ को कल्प मेला के नाम से भी जाना जाता है. इस साल का राजिम कुंभ कई मायने में बेहद खास रहने वाला है. राजिम कुंभ का यह 13वां आयोजन है. इसे खास बनाने के लिए सरकार की ओर से जोरदार तैयारियां की जा रही हैं. धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने इस संदर्भ में अधिकारियों को आवश्यक निर्देश जारी कर दिए हैं.

अग्रवाल के मुताबिक, राजीव लोचन मंदिर से कुलेश्वर महादेव मंदिर एवं लोमश ऋषि आश्रम तक सस्पेंशन ब्रिज लक्ष्मण झूला का निर्माण प्रारंभ हो गया है, जो सम्भवत: देश का सबसे बड़ा सस्पेंसन झूला होगा. साथ ही मेला क्षेत्र में सबमर्सिबल सड़क निर्माण की भी योजना है.

 

2.50 लाख दिए जलाकर किया जाएगा साधुओं का स्वागत

विभागीय सचिव सोनमणि वोरा के मुताबिक, 13वां राजिम कुंभ कल्प मेला इस बार ऐतिहासिक होगा. विराट संत समागम के अवसर पर सात फरवरी को साधु-संतों के स्वागत के लिए ढाई लाख मिट्टी के दीये जलाए जाएंगे. इसी तरह नदी के संरक्षण, नदी संवर्धन, जल स्वच्छता विषय पर नदी मैराथन का आयोजन तीन फरवरी को सुबह 07.30 बजे से किया जाएगा.

ये भी पढ़ेंः विवादों को पीछे छोड़ 'पद्मावत’ ने तीन दिन में कमाए 100 करोड़!

1500 शंखों से गूंजेगा आसमान

राजिम कुंभ का एक और महत्वपूर्ण कार्यक्रम सामूहिक शंखनाद होगा, जिसमें 1500 शंख एक साथ गूंजायमान होंगेअग्रवाल ने कहा कि यह हमारी भारतीय संस्कृति का एक प्रतीक है, जो राजिम कुंभ में झलकेगा.

 

First published: 28 January 2018, 10:59 IST
 
अगली कहानी