Home » कल्चर » Raksha Bandhan: जानिए किस वजह से अमृत मुहूर्त में बहनों को बांधनी चाहिये राखी
 

Raksha Bandhan: अमृत मुहूर्त में राखी बांधना है कृपा बरसने की गांरटी

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 August 2018, 11:54 IST

इस बार भाई-बहनों का महापर्व 26 अगस्त को मनाया जा रहा है. इस दिन बहनें भाइयों को राखी बांध कर उनकी लंबी उम्र, संपन्नता की कामना करती हैं. वैसे तो रक्षाबंधन के दिन किसी भी दिन राखी बंधी जा सकती है, लेकिन ज्योतिष के जानकारों के अनुसार अमृत मुहूर्त में राखी बांधना सबसे सर्वश्रेष्ठ रहता है.

जानिये क्या है अमृत मुहूर्त:

अमृत मुहूर्त उस मुहूर्त को कहते है जब राखी बांधने का सबसे सर्वश्रेठ समय होता है. इस दौरान राखी बांधने से लाभ मिलता है. जैसे अभिजीत काल में किसी भी कार्य को करने से निश्चित रूप से सफलता की प्राप्ति होती है वैसे अमृत मुहूर्त में राखी बांधने से जल्द ही लाभ मिलता है.


आप को बता दें कि इस बार रक्षा बंधन बांधने का शुभ मुहूर्त लगभग 12 घंटे का है. इस रक्षा बंधन पर बहनें सुबह 7:43 मिनट से रात 11: 03 मिनट तक राखी बांध सकती हैं.

इस बार का शुभ मुहूर्त

  • सुबह 7:43 बजे से 9:18 बजे तक चर
  • सुबह 9:18 बजे से 10:53 बजे तक लाभ
  • सुबह 10:53 बजे से 12:28 बजे तक अमृत
  • दोपहर 2:03 बजे से 3:38 बजे तक शुभ
  • सायं 6:48 बजे से 8:13 बजे तक शुभ
  • रात्रि 8:13 बजे से  9:38 बजे तक अमृत
  • रात्रि 9:38 बजे से 11:03 बजे तक चर

चौघड़िया के अनुसार राखी बांधने का मुहूर्त:

  • लाभ  की चौघड़िया-सुबह 09.18 से 10.53 तक
  • अमृत की चौघड़िया- सुबह 10.53 से दोपहर 12.29 तक
  • शुभ की चौघड़िया- दोपहर 02.04 से 03.39 तक
  • शुभ की चौघड़िया- शाम 06.49 से 08.14 तक
  • अमृत की चौघड़िया- रात्रि 08.14 से 09.39 तक
First published: 25 August 2018, 11:49 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी