Home » कल्चर » Ramjan and its importance in islam religion
 

रमजान के मौके पर भूलकर भी ना करें ऐसा, वरना भुगतने पड़ सकते हैं घातक परिणाम

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 May 2019, 16:11 IST

रमजान का महिला सिर्फ इबादत करने के लिए नहीं बल्कि लोगों की बुरी आदतों पर काबू पाने के लिए आता है. इसलिए इस महीने को पाक का महीना भी कहते हैं. रमजान के मौके पर बहुत से लोग रोजा रखते हैं. लेकिन बहुत से ऐसे लोग हैं, जो रोजा रख तो लेते हैं, लेकिन नियमों का सही से पालन नहीं करते. आज हम आपको इससे ही जुड़े कुछ नियम बताने जा रहे हैं. चलिए जानते हैं रोजा के कुछ महत्वपूर्ण नियम-

रोजा खोलने से पहले ना करें ये काम

रमजान के मौके पर जो लोग रोजा रखते हैं, उन्हें इफ्तार से पहले खाने की बात नहीं करनी चाहिए. ऐसा करना गलत माना जाता है. यहां तक की रोजा के दौरान खाने के बारे में सोचना भी लगत होता है.

बुरी आदतों से रहें दूर

रमजान के महीने में बूरी आदतों से तौबा कर लें. इस महीन में पाक इरादे और काम होने चाहिए. तभी आपको सही फल मिलता है.

ऐसा करने से टूट जाता है रोजा

रमजान के मौके पर जो भी व्यक्ति रोजा रखते हैं. उन्हें दूसरों की बुराई, झूठ, धोखा और फरेब से बचना चाहिए. अगर वे ऐसा नहीं करते हैं, तो उनका रोजा रखना बेकार माना जाता है.

बुरी चीजों से रहें दूर

रोजा रखने वालों को बुरी आदतों और चीजों से दूर रहना चाहिए. रमजान के मौके पर नियमों का पालन ना करने से आपका रोजा टूटा हुआ माना जाता है.

70 गुना मिलता है पुण्य

नियमों के पालन के साथ रोजा रखने वालों को 70 गुणा अधिक फल मिलता है. कहते हैं आप इस महीने में जितना पुण्य का काम करते हैं आपको फल उससे कई गुणा अधिक मिलता है.

रमजान 2019: जानिए कब से शुरु होगा रमजान का पवित्र महीना, इस दिन होगा पहला रोजा

First published: 4 May 2019, 16:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी