Home » कल्चर » janmashtami 2019: rare coincidence on krishna janmashtami 2019
 

सदियों बाद बना जन्माष्टमी पर ऐसा दुर्लभ संयोग, द्वापर में इसी समय हुआ था श्रीकृष्ण का जन्म

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 August 2019, 14:12 IST

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी हिन्दुओं के लिए काफी महत्वपूर्ण त्योहार माना जाता है. पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, श्रीकृष्ण के रूप में सृष्टि के पालनहार श्री हरि विष्णु ने आठवां अवतार धारण किया था. इस दिन भगवान श्रीकृष्ण का जन्म हुआ था. हिंदू पंचांग के मुताबिक, भाद्रपद की अष्टमी तिथि पर हर साल भगवान कृष्ण का जन्म होता है.

इस बार ज्योतिष गणना के अनुसार, बेहद ही शुभ संयोग बन रहा है, जो सदियों बाद आया है. ज्योतिष के अनुसार, द्वापर युग में जिस तरह अष्टमी तिथि को भगवान कृष्ण के जन्म के समय सूर्य और चंद्रमा उच्च भाव में विराजमान थे. इस बार ठीक वैसे ही जन्माष्टमी पर भी रोहिणी नक्षत्र में ऐसा ही अद्भुत संयोग बन रहा है. इसलिए इस साल 23 अगस्त और 24 अगस्त को जन्माष्टमी मनाया जा रहा है.

ऐस अद्भुत संयोग पर भगवान श्री कृष्ण की पूजा करने से विशेष फल की प्राप्ति होगी. इस बार भी अष्टमी तिथि पर रोहिणी नक्षत्र का शुभ संयोग, सूर्य और चंद्रमा का उच्च राशि में रहना बहुत ही मंगलकारी माना जा रहा है.

जन्माष्टमी शुभ मुहूर्त:
अष्टमी तिथि प्रारम्भ - 23 अगस्त 2019 को सुबह 8 बजकर 9 मिनट पर
अष्टमी तिथि समाप्त - 24 अगस्त 2019 को सुबह 8 बजकर 32 मिनट पर
अभिजीत मुहूर्त - दोपहर 12:04 से 12 :55 बजे तक
निशिता पूजा का समय - मध्यरात्रि 12:09 से 12: 47 बजे तक

जन्माष्टमी 2019: इन आठ चीजों से करें कान्हा की पूजा, लड्डू गोपाल होंगे प्रसन्न, होगी ऐश्वर्य की प्राप्ति

First published: 20 August 2019, 17:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी