Home » कल्चर » rules followed during god puja
 

रात में पूजा करने वाले रखें इन बातों का खास ख्याल, होगा फायदा

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 July 2020, 9:30 IST

सनातम धर्म में पूजा अर्चना का खास महत्व है. ऐसे में जहां अधिकांश पूजा से संबंधित कार्य सुबह व शाम के वक्त करना अच्छा माना जाता है. वहीं कुछ पूजा लोग रात में भी करते हैं. ऐसा कभी समय की कमी के चलते लोग करते हैं या कभी किसी कारणवश करते हैं.

हालांकि भगवान की पूजा करने का कोई विशेष समय निर्धारित नहीं किया जा सकता है. क्योंकि भगवान की पूजा और स्मरण कभी भी कर सकते हैं और उनकी पूजा अर्चना कर सकते हैं.


ज्योतिष के मुताबिक कुछ देवी देवताओं के संबंध में मान्यता है कि इनकी पूजा के वक्त का खास ख्याल रखना चाहिए, फिर भी रात में भगवान की पूजा करते वक्त हमें कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए. कहा जाता है कि ऐसा करने से हमें इस अवधि में की गई पूजा का पूर्ण फल प्राप्त होगा. चलिए बताते हैं आपको कि रात में पूजा के वक्त किन बातों का खास ख्याल चाहिए.

कहा जाता है कि सूरज अस्त होने के बाद देवी देवका सोने चले जाते हैं, इसलिए जब भी रात में सूर्यास्त के बाद पूजा करें तो ध्यान रखें कि शंख नहीं बजाना चाहिए. शंख ध्वनि से माना जाता है कि उनकी निद्रा में बाधा आती है. मान्यता है कि दीपावली, जन्माष्टमी जैसे कुछ धार्मिक अवसरों को छोड़कर जहां तक हो सके सूरज ढलने का बाद शंक नहीं बजाना चाहिए.

 Sawan Shivratri 2020: ये है सावन शिवरात्रि पर पूजा का शुभ मुहूर्त, ऐसे करें भगवान शिव का जलाभिषेक

रात में कभी भी सूर्य भगवान की पूजा नहीं करनी चाहिए. ऐसा इसलिए क्योंकि सूरज भगवान की भी पूजा जरूर करें, क्योंकि सूर्य देव को दिन का देवता माना जाता है. ऐसे में रात में पूजा करते वक्त कभी भी सूर्य देव की पूजा ना करें.

पूजा के दौरान अक्सर तुलसी के पत्ते का इस्तेमाल करते हैं. लेकिन रात के वक्त में कभी भी तुलसी का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए. ऐसा करने से तुलसी माता नाराज हो जाती है.

इसी के साथ ज्योतिष के मुताबिक पूजा करने के बाद कुछ बातों का खास ख्याल रखना चाहिए, इसके तहत रात की गई पूजा के बाद पूजा में इस्तेमाल किए गए फूल, अक्षत और दूसरी चीजों को रात भर पूजास्थल पर ही रहने दें, इन्हें कभी भी उस समय नहीं हटाना चाहिए, इन चीजों को सुबह ही अपने स्थान से हटाना चाहिए.

इन पांच राशियों के लोग जन्म से ही होते हैं लकी, पैसों की नहीं रहती कभी कमी

First published: 20 July 2020, 9:30 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी