Home » कल्चर » Software engineer text analysis software revealed violence is more common in Bible than Quran
 

शोध: क्या कुरान से ज्यादा हिंसा बाइबल में है?

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:38 IST
(यूट्यूब)

क्या इसाइयों के धार्मिक ग्रंथ बाइबिल से ज्यादा हिंसा मुसलमानों के पवित्र ग्रंथ कुरान में है, इस सवाल का जवाब ढूंढ़ने के लिए किए गए एक विश्लेषण में पता चला कि इस्लामी ग्रंथ से ज्यादा हत्याएं और तबाही इसाई ग्रंथ में देखने को मिलती हैं.

इस बात की जांच के दौरान कि क्या यहूदी-इसाई धर्मग्रंथ के मुकाबले कुरान में ज्यादा हिंसा है, सॉफ्टवेयर इंजीनियर टॉम एंडरसन ने दोनों पवित्र पुस्तकों के टेक्स्ट्स को प्रॉसेस किया, ताकि पता चले कि किसमें ज्यादा हिंसा शामिल है.

एक ब्लॉग पोस्ट में टॉम एंडरसन ने लिखा, "यह प्रोजेक्ट काफी वक्त से चली आ रही उस सार्वजनिक बहस से प्रभावित है जिसमें इस पर चर्चा की जा रही है कि क्या आतंक इस्लामी कट्टरवाद से जुड़ा है या नहीं, जो अन्य प्रमुख धर्मों की तुलना में इस्लाम को स्पष्ट और स्वाभाविक रूप से ज्यादा हिंसात्मक प्रदर्शित करता है."

टेक्स्ट एनालिटिक्स सॉफ्टवेयर के जरिये टॉम एंडरसन ने ओडिन टेक्स्ट नाम का एक सॉफ्टवेयर डेवलप किया. इसमें उन्होंने ओल्ड एंड न्यू दोनों टेस्टामेंट्स के नए अंतरराष्ट्रीय संस्करण के साथ ही 1957 में कुरान के अंग्रेजी भाषा संस्करण का विश्लेषण किया. इन तीनों किताबों को पढ़ने और एनालाइज करने में टॉम के सॉफ्टवेयर को केवल दो मिनट का वक्त लगा. 

इन ग्रंथों में लिखे शब्दों को खुशी, प्रत्याशा, क्रोध, घृणा, उदासी, आश्चर्य, भय/चिंता और विश्वास जैसी आठ भावनाओं के वर्ग में शामिल करनेे से निकले विश्लेषण से पता चला कि कुरान की तुलना में बाइबल ने क्रोध के मामले में ज्यादा और विश्वास के मामले में कम अंक पाए.

इसके बाद के विश्लेषण में पता चला कि ओल्ड टेस्टामेंट, न्यू टेस्टामेंट की तुलना में ज्यादा हिंसक था और कुरान की तुलना में यह दोगुना हिंसक था. 

टॉम एंडरसन ने इसे संक्षिप्त करते हुए लिखा, "इन तीन किताबों में, ओल्ड टेस्टामेंट का लेख सबसे ज्यादा हिंसक था. कुरान (2.1 फीसदी) की तुलना में न्यू टेस्टामेंट (2.8 फीसदी) में हत्याएं और तबाही ज्यादा दिखे, लेकिन ओल्ड टेस्टामेंट्स इस मामले में सबसे आगे रहा और इसमें कुरान के दोगुने से ज्यादा 5.3 फीसदी हत्याओं और तबाही जैसे उद्गहरण दिखे."

हालांकि उन्होंने आगे कहा, "सबसे पहले तो मैं यह बिल्कुल साफ कर देना चाहता हूं कि हमनें सबकुछ यह सिद्ध करने या फिर खारिज करने के लिए तैयार नहीं किया कि इस्लाम अन्य धर्मों की तुलना में सबसे ज्यादा हिंसक है."

"इतना ही नहीं हमें पता चला कि इसाइयों, यहूदियों और इस्लाम में केवल ओल्ड एंड न्यू टेस्टामेंट्स और कुरान ही इकलौते ग्रंथ नहीं हैं, न ही यह इन धर्मों की शिक्षाओं और नियमों का पूरा सार प्रस्तुत करते हैं."

टॉम के मताबिक, "मुझे इस बात पर दोबारा जोर डालना पड़ेगा कि यह विश्लेषण सतही है और इसके नतीजे निर्णायक ही हैं, यह बताने का कोई इरादा नहीं है. हमनें कुरान, ओल्ड और न्यू टेस्टामेंट्स के टेक्स्ट्स के 30,000 फीट के क्षेत्र को अलग-अलग सरसरी तौर पर देखा." 

First published: 4 December 2016, 7:46 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी