Home » कल्चर » Solar Eclipse 2020: This Temple not closed during Surya Grahan
 

Solar Eclipse 2020: सूर्य ग्रहण के दौरान भी खुले रहेंगे इन मंदिर के कपाट, होगी विशेष पूजा

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 June 2020, 11:20 IST

Solar Eclipse 2020: 21 जून रविवार को सूर्य ग्रहण होने वाला है. भारत में ये सूर्य ग्रहण 9:15 मिनट से शुरू होगा और दिन में 03:03 मिनट तक रहेगा. रविवार को होने वाला सूर्य ग्रहण वलयाकार सूर्य ग्रहण है. सूर्य ग्रहण लगने से 12 घंटे पहले सूतक लगता है और इस दौरान कोई भी शुभ काम नहीं होता है. इतना ही नहीं इस दौरान मंदिरों के कपाट बंद रहते हैं. लेकिन देश में कुछ ऐसे भी मंदिर हैं जो सूर्य ग्रहण के दौरान बंद नहीं होते और इनके कपाट खुल रहते हैं और यहां पर भक्त नित्य तरह से पूजा पाठ करते हैं.

दक्षिणी भारत के आंध्रप्रदेश का मशहूर कालहस्ती या कालहटेश्वर मंदिर


सूर्य ग्रहण के दौरान दक्षिणी भारत के आंध्रप्रदेश के कालाष्ठी में बना कालहस्ती या कालहटेश्वर मंदिर के कपाट ना तो बंद होते हैं और ना ही इस दौरान पूजा-पाठ पर किसी प्रकार का रोक लगाया जाता है. इस मंदिर में राहु-केतु की पूजा के साथ ही साथ कालसर्प की भी पूजा होती है.

उज्जैन का महाकाल मंदिर

सूर्यग्रहण के समय उज्जैन के महाकाल मंदिर के कपाट भी नहीं बंद किये जाते है. हालांकि, इस दौरान शिवलिंग को नहीं छुआ जाता है और ना ही इस समय भोग लगाया जाता है. दरअसल, ग्रह के दौरान वैष्णव मंदिरों के कपाट बंद किये जाते हैं जबकि शैव मंदिरों के कपाट खुले रहते हैं.

श्रीकालहस्ती मंदिर

इस बार ग्रहण के दौरान आंध्र का श्रीकालहस्ती मंदिर खुला रहेगा. इस दौरान मंदिर में विशेष पूजा अर्चान ही जाएगी. मंदिर के कार्यकारी अधिकारी चंद्रशेखर रेड्डी ने बताया कि इस दौरान भगवान श्री कालहस्तीश्वर की विशेष पूजा की जाएगी. उन्होंने कहा,"सूर्य ग्रहण सुबह 10:18 बजे से दोपहर 1:40 बजे तक होगा. देवताओं के लिए विशेष अभिषेक सुबह 10:18 बजे से 11.45 बजे तक किया जाएगा.

 Solar Eclipse 2020: दिल्ली में ऐसा दिख रहा है सूर्य ग्रहण, यहां देखें देशभर में ग्रहण का नजार

First published: 21 June 2020, 10:56 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी