Home » कल्चर » Surya grahan 2018: these works are prohibited effects on people by kundali
 

Surya grahan 2018: साल का दूसरा सूर्यग्रहण आज, भूल कर भी न करें ये अशुभ काम

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 July 2018, 8:50 IST

भारत में आज सूर्यग्रहण सुबह 7.18 बजे से शुरू होकर 08.13 मिनट पर खत्म हो गया. सूर्यग्रहण का असर भारत में देखने को नहीं मिला. ये साल का दूसरा सूर्यग्रहण था. इससे पहले साल की शुरुआत में 15 फरवरी को पहला ग्रहण लगा था. हालांकि सूर्यग्रहण का असर भारत में नहीं रहा फिर भी ज्योतिष के अनुसार सूर्यग्रहण के बाद कुछ काम करने पर प्रतिबन्ध है.

हालांकि ज्योतिष ने सूर्यग्रहण के दौरान सुबह और अशुभ कार्यों को अलग अलग बताया है. भारतीय पौराणिक कथाओं के मुताबिक सूर्यग्रहण के दौरान पूजा-पाठ का विशेष ध्यान रखना चाहिए. सूर्य ग्रहण के बाद पवित्र नदियों और सरोवरों में स्नान कर देवता की आराधना करनी चाहिए.

ये भी पढ़ें- इस सूर्य ग्रहण पर करें ऐसे उपाय,चमक जाएगी आपकी किस्मत

इस दौरान दान करने को शुभ माना जाता है. इसलिए सूर्य ग्रहण के बाद स्नान करें फिर दान करना चाहिए. सूर्य ग्रहण के दान को गरीब और ब्राह्मणों को देने की पुरानी परंपरा है. कहा जाता है कि दान करने से ग्रहण के प्रभाव का असर कम हो जाता है. इसीलिए भारत में लोग सूर्य ग्रहण के बाद पवित्र नदियों गंगा, यमुना और गोदावरी जैसी नदियों में स्नान करते हैं.

 

 

सूर्य ग्रहण से जुड़े कुछ मिथक

चंद्र ग्रहण और सूर्य ग्रहण से जुड़े कुछ मिथक भी हैं. ऐसा माना जाता है कि ग्रहण के दौरान प्रग्नेंट महिलाओं को घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए. साथ ही सूर्य ग्रहण और चंद्र ग्रहण नहीं देखना चाहिए. ऐसा करने से गर्भ में पल रहे बच्चे पर दुष्प्रभाव पड़ते हैं.

हिंदू धर्म की मान्यताओं के मुताबिक सूर्य ग्रहण के दौरान बाल और कपड़ों को नहीं निचोड़ना चाहिए. साथ ही दांत साफ करने से भी बचना चाहिए. वहीं इस दौरान ताला खोलना, सोना, मल-मूत्र करना और खाना खाना भी उचित नहीं माना जाता. इस दौरान कोई शुभ कार्य करना भी ठीक नहीं समझा जाता. इसलिए ऐसे कार्य करने से बचें जो शुभ माने जाते हों.

ये भी पढें- सूर्य ग्रहण 2018: सूर्य ग्रहण के दौरान ना करें ये काम, भुगतने पड़ेंगे बुरे परिणाम

कैसे देखें सूर्य ग्रहण

वैज्ञानिकों के मुताबिक सूर्य या चंद्र ग्रहण देखने से कोई नुकसान नहीं होता, लेकिन सूर्य ग्रहण को नंगी आंखों से देखना आपकी आंखों के लिए खतरनाक साबित हो सकता है. इसलिए सूर्य ग्रहण को टेलिस्‍टकोप से ही देखना चाहिए. साथ ही सूर्य ग्रहण को देखने के लिए ऐसे चश्‍में का भी इस्‍तेमाल कर सकते हैं जिनमें अल्‍ट्रावॉयलेट किरणों को रोकने की क्षमता हो.

First published: 13 July 2018, 8:50 IST
 
अगली कहानी