Home » कल्चर » Surya Grahan December 2020: Dangerous Guru Chandal Yoga will remain at the time of solar eclipse
 

14 दिसंबर को साल का आखिरी सूर्य ग्रहण, इन राशि के लोगों के लिए बहुत ही खतरनाक

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 December 2020, 14:13 IST

Surya Grahan December 2020: 14 दिसंबर को साल का आखिरी सूर्यग्रहण लग रहा है. यह सूर्य ग्रहण कुछ राशि के लोगों के लिए खतरनाक साबित हो सकता है. इस सूर्य ग्रहण के दुष्प्रभाव से बचने के लिए मेष राशि, कर्क राशि, मिथुन राशि, कन्या राशि, तुला राशि और मकर राशि के लोगों को विशेष सावधानी बरतनी होगी.

इन राशि के लोगों कि इस दौरान क्रोध और गलत कार्यों को करने से बचना होगा. बता दें कि सूर्य ग्रहण को ज्योतिष शास्त्र में बहुत ही महत्वपूर्ण माना गया है. सूर्य को ज्योतिष शास्त्र में सभी ग्रहों का राजा माना गया है. सूर्य आत्मा और ऊर्जा का भी कारक है. गौरतलब है कि जब सूर्य ग्रहण होता है, इस दौरान सूर्य पीड़ित हो जाते हैं.

सूर्य ग्रहण की घटना अशुभ

सूर्य ग्रहण की घटना को शुभ नहीं माना जाता. क्योंकि जब कोई ग्रह पीड़ित हो जाता है तो वह शुभ फल प्रदान नहीं करता. इस बार का सूर्य ग्रहण 14 दिसंबर को वृश्चिक राशि में लगने जा रहा है. सूर्य ग्रहण मिथुन लग्न में होगा. वृश्चिक राशि में सूर्य के साथ चंद्रमा, सूर्य, बुध, शुक्र और केतु भी मौजूद रहेंगे. इस बार के सूर्य ग्रहण के दौरान वृश्चिक राशि में 5 महत्वपूर्ण ग्रह होंगे.

सूर्य ग्रहण भारतीय समय के अनुसार 14 दिसंबर को शाम 7 बजकर 4 मिनट से मध्य रात्रि तक लगा रहेगा. इस ग्रहण को भारत में खंडग्रास माना जा रहा है. सूर्य ग्रहण में खंडग्रास सूतक काल मान्य नहीं होता. इस कारण इस ग्रहण का विशेष धार्मिक महत्व नहीं होगा. हालांकि कई राशियों को यह ग्रहण प्रभावित करेगा.

मां लक्ष्मी कभी नहीं छोड़ेंगी साथ, शुक्रवार के दिन अपनाएं ये टोटके

शीर्ष पदों पर बैठे व्यक्तियों को करेगा प्रभावित

यह सूर्य ग्रहण शीर्ष पदों पर बैठे व्यक्तियों को अधिक प्रभावित करेगा. अपने अधिकारों का गलत प्रयोग करने वालों तथा कमजोर लोगों को धोखा देने को न्याय प्रिय शनि इस सूर्यग्रहण के दौरान दंड दे सकते हैं. देव गुरु बृहस्पति तथा बुध सोच समझ की शक्ति में वृद्धि कर सकते हैं. इस दौरान सही और गलत का अंतर समझ में आएगा.

बता दें कि इस सूर्य ग्रहण के दौरान खतरनाक गुरु चंडाल योग बन रहा है. बृहस्पति पर राहु की दृष्टि रहेगी. मकर राशि में शनि के साथ बृहस्पति विराजमान है. अप्रैल 2021 तक गुरु चंडाल योग का निर्माण बना हुआ है. कहा गया है कि जिनकी जन्म कुंडली में गुरु चंडाल योग पहले से बना हुआ है उन्हें विशेष सावधानी बरतनी होगी. यह समय आम जनता के लिए भी परेशानी भरा हो सकता है.

जिन लोगों की हथेली में होते हैं ये निशान, बड़ा किस्मत वाला होता हैं वो इंसान!

लक्ष्मी मां ने इंद्रदेव को बताया था ये रहस्य, किन लोगों पर बरसती है उनकी कृपा

First published: 10 December 2020, 11:27 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी