Home » कल्चर » these vastu tips in mind while designing your babys room
 

Vastu Tips: वास्तु के हिसाब से करें अपने बच्चे का कमरा डिजाइन, इन बातों का रखें ध्यान

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 September 2020, 11:53 IST

Vastu Tips: पैरेंट के लिए अपने छोटे बच्चे का कमरा डिजाइन करना बहुत ही चैलेंजिंग होता है. ऐसे में कभी कभी लोग बच्चे के इस दुनिया में आने से पहले ही घर में उसके आने की तैयारियां शुरू कर देते हैं.

यदि आप भी अपने छोटे से बच्चे का घर पर वेलकम करने जा रही हैं तो इसके लिए आपको उसके कमरे से जुड़ी तमाम तरह की तैयारियां पूरी करनी होंगी. इसी के चलते आज हम आपको कुछ वास्तु टिप्स बताएंगे. जो आपको अपने नवजात बच्चे के कमरे को डिजाइन करते वक्त जरूर ध्यान रखना है.


सबसे महत्वपूर्ण होता है कि जिस कमरे को आप डिजाइन करवाना चाहते हो वहां पर सुबह के वक्त सूरज की रोशनी आनी बहुत जरूरी है. सूरज की हल्की किरणों से घर में पॉजिविटी आती है. कहा जाता है कि सूरज की किरणे कीटाणुओं को भी मार देती है.

कमरे में बच्चे का बेड उत्तर पूर्व दिशा में ही हमेशा रखना होना चाहिए. यह दिशा आइडियल मानी जाती है.इसके अलावा पालना खरीदते वक्त भी ध्यान दें कि उसकी लंबाई 2-3 फीट ही हो.पालने को दीवार से दूर और कमरे के ठीक दक्षिण-पश्चिम दिशा में रखा जाना शुभ माना जाता है.

shani transit 2020: इस दिन शनि बदलने वाला है अपनी चाल, इस राशियों पर पड़ेगा भारी

 

बच्चे के कमरे में निगेटिव एनर्जी का प्रवेश ना हो. इसके लिए वहां पर सेंधा नमक रखना चाहिए. सेंधा नमक निगेटिव एनर्जी को दूर करता है. लेकिन ध्यान रखें ये नमक वक्त के साथ-साथ बदलते रहें.
कमरे का कलर करवाते वक्त हमेशा ध्यान दें कि कलर थोड़ा हल्के रंग का ही हो. साथ ही बच्चों के खेलने वाले खिलौनों के रंग भी हल्के और वाइब्रेंट इस चुने.

इसके अलावा आप बेबी का कमरा सजाने के दौरान चाहें तो पेंटिंग्स भी लगा सकती है. ये पेंटिंग्स बच्चे के कमरे में शांति, आध्यात्मिकता और प्रेरणा को दर्शाने वाली होनी चाहिए. कहा जाता है कि ऐसा करने से बच्चे का मन उसी ओर विकसित होने में मदद होगी.

Vastu Tips : भूलकर भी पूजा करते वक्त ना करें ये गलतियां, वरना नहीं मिलेगा प्रार्थना का फल

First published: 26 September 2020, 11:53 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी