Home » कल्चर » valentines day 2018 why celebrate valentine day all over the world and why some peoples protest
 

Valentine's day 2018ः ये है वैलेंटाइन डे शुरु होने की इनसाइड स्टोरी

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 February 2018, 10:43 IST

वैैसे प्यार करने के लिए कोई दिन खास नहीं होता, जब चाहो प्यार करो, मां-बाप, भाई-बहन, दोस्त, रिश्तेदार आप हर उस चीज को प्यार करते हैं जिसे आप जानते हैं, जिसे पसंद करते हैं. लेकिन इन सब में एक रिश्ता कुछ खास अहमियत रखता है. वो रिश्ता है प्रेमी-प्रेमिका का. शायद इसीलिए इनके लिए एक खास दिन भी बनाया गया है. वो दिन है वैलेंटाइन डे.

ये भी पढ़ें- इस वैलेंटाइन टैटू के जरिए जाहिर करें अपना प्यार, बनवाएं इस तरह के टैटू

इस दिन आप उस लड़की या लड़के से प्यार का इजहार करते हैं. जिसे आप आंखों ही आंखों चाहते हैं. साथ ही इस दिन को सेलिब्रेट करने के लिए कुछ खास इंतजाम करते हैं और जमकर मौज-मस्ती करते हैं. हर त्योहार या खास दिन को सेलिब्रेट करने के पीछे कोई ना कोई कहानी जरूर होती है. वैलेंटाइन डे के पीछे की कहानी क्या है.

इसे बहुत ही कम लोग जानते होंगे कि आखिर वैलेंटाइन डे मनाना किसने शुरु किया. इसका नाम वैलेंटाइन ही क्यों रखा गया या इस दिन को सिर्फ 14 फरवरी को ही क्यों सेलिब्रेट किया जाता है. तो आज हम आपको वैलेंटाइन डे से जुड़ी कुछ खास बातों के बारे में बताएंगे.

क्या है वैलेंटाइन डे का इतिहास

वैलेंटाइन डे का नाम रोम के एक संत वैलेंटाइन के नाम पर पड़ा है. बताया जाता है कि तीसरी सदी में रोम में एक राजा हुआ करता था. राजा का नाम था क्लॉडियस. कहा जाता है कि क्लॉडियस विवाह को पुरुषों की शक्ति और बुद्धि को समाप्त करने वाला बताता था. इसीलिए उसने अपने राज्य में सैनिक और अधिकारियों के शादी करने पर रोक लगा रखी थी.

संत वैलेंटाइन ने किया क्लॉडियस के आदेश का विरोध

संत वैलेंटाइन को राजा क्लॉडियस की ये बात नागबार गुजरी और उन्होंने इसका बहुत विरोध किया. संत वैलेंटाइन ने पूरे राज्य में घूम-घूम कर राजा के इस आदेश को ना मानने का संदेश दिया. इसी दौरान संत वैलेंटाइन ने कई सैनिक और ऑफिसर्स की शादी कराई.

जब संत वैलेंटाइन को लगा दी गई फांसी

खुद के आदेश का विरोध करते देख राजा क्लॉडियस ने संत वैलेंटाइन को फांसी देने का हुक्म दे दिया. इसके बाद संत वैलेंटाइन को 14 फरवरी 269 को फांसी पर लटका दिया गया. उसके बाद हर साल संत वैलेंटाइन की याद में वैलेंटाइन डे मनाया जाता है. जिसे प्यार के पर्व के तौर पर देखा जाता है. क्योंकि संत वैलेंटाइन ने लोगों को प्यार करने और शादी करने का संदेश दिया था. लेकिन राजा क्लॉडियस शादी करने के खिलाफ था.

आज भी हमारे देश में प्यार को गुनाह करने की नजर से देखा जाता है. इसीलिए कई संगठन वैलेंटाइन डे का विरोध करते हैं. ऐसा लगता है कि वैलेंटाइन डे का विरोध करने वाले आज भी रोम के राजा क्लॉडियस की राह पर चल रहे हैं और जो वैलेंटाइन डे मनाते हैं वो संत वैलेंटाइन को फॉलो करते हैं.

First published: 14 February 2018, 10:43 IST
 
अगली कहानी