Home » कल्चर » Vrindavan: Widows celebrated Holi with colours & flowers, sri krishna, mathura, gokul, holi celebration
 

Happy holi 2018: वृंदावन की विधवा महिलाओं ने 'कान्हा' के साथ खेली मनमोहक होली

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 February 2018, 15:42 IST

बांके बिहारी के धाम वृन्दावन में लगातार छठी बार सैकड़ों साल की पुरानी परंपरा की दीवार तोड़कर एक नई पहल की गई. दरअसल, वृंदावन के आश्रमों में रहने वाली विधवा महिलाओं ने इस बार भी होली खेली. उन्होंने अपना दुख भूल अपने प्रिय कन्हैया के साथ खूब मस्ती की.

गौरतलब है कि श्रीधाम वृंदावन में वर्तमान में करीब 2000 विधवा महिलाएं रहती हैं. अपनेे जीवन में दुखों का सागर लिए हुए ये महिलाएं वृंदावन के विधवा आश्रमों में रहती हैं. सुलभ इंटरनेशनल नामक संगठन ने इनके जीवन में खुशी के कुछ पल लाने के लिए चैतन्य विहार स्थित मीरा सहभागिनी आश्रय सदन में फूलों की होली का आयोजन किया था.

 

इस कार्यक्रम में पारंपरिक रूप से पहले रासलीला समारोह हुआ फिर फूलों की होली खेली गई. इस होली के दौरान महिलाओं ने कान्हा पर रंग-बिरंगे फूल बरसाकर उन्हें होली रस से सराबोर कर दिया.

सुलभ इंटरनेशनल संस्था ने इस बाबत बताया कि विधवाओं के जीवन में होने जा रहे इस बदलाव से वह बेहद खुश हैं. आखिर सदियों पुरानी प्रथा को दरकिनार कर वह इस बार होली खेली गई.

 

संस्था के संस्थापक डॉ. बिंदेश्वरी पाठक ने बताया कि जब विधवा महिलाओं ने होली खेलने की इच्छा जाहिर की तो हमने अपनी सहमति जता दी. इसके बाद संस्था की ओर से परंपरागत रासलीला कार्यक्रम की व्यापक तैयारी की गयी.

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर सुलभ इंटरनेशनल नामक संस्था आश्रय सदनों की विधवा-वृद्धाओं को बेहतर जिंदगी व्यतीत करने के लिए सुविधाएं प्रदान कर उन्हें आत्मनिर्भर बनाने का प्रयास कर रही है. ये विधवाएं मंदिरों में जाकर भीख न मांगें, इसके लिए कई प्रयास किये जा रहे हैं.

First published: 28 February 2018, 11:03 IST
 
अगली कहानी