Home » कल्चर » Writer Dayananda has refused to accept the Kannada Sahitya Akademi Award
 

कलबुर्गी हत्या के विरोध में लेखक ने साहित्य अकादमी पुरस्कार ठुकराया

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 January 2016, 16:30 IST

युवा कन्नड़ लेखक दयानंद टीके ने कर्नाटक साहित्य अकादमी पुरस्कार लेने से मना कर दिया है. कर्नाटक साहित्य अकादमी को लिखे अपने पत्र में दयानंद ने इसकी वजह साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित डॉक्टर एमएम कलबुर्गी की हत्या और जांच में कोई प्रगति न होना बताई है.

दयानंद को उनकी किताब रास्ते नक्षत्र के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार के लिए चुना गया है, यह किताब उनके लेखन का संग्रह है. उन्होंने इस पुरस्कार के लिए चुने जाने पर कर्नाटक साहित्य अकादमी को धन्यवाद दिया. हालांकि कलबुर्गी की दिनदहाड़े हत्या और उस घटना की जांच में कोई प्रगति न होने पर कर्नाटक सरकार और पुलिस की निंदा की.

sahitya


पिछले साल 30 अगस्त को धारवाड़ में कलबुर्गी के घर पर उनकी गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. उनकी हत्या के विरोध में पहले भी कई साहित्यकारों और लेखकों ने अपने पुरस्कार लौटाए हैं. इस हत्याकांड की जांच का जिम्मा कर्नाटक सीआईडी के पास है.

First published: 11 January 2016, 16:30 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी