Home » दिल्ली » After Uttarakhand, AAP will contest assembly elections in Uttar Pradesh, Kejriwal announced
 

केजरीवाल का ऐलान- AAP उत्तराखंड के बाद उत्तर प्रदेश में भी 2022 के विधानसभा चुनाव लड़ेगी

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 December 2020, 13:48 IST

दिल्ली के मुख्यमंत्री और AAP प्रमुख अरविंद केजरीवाल का कहना है कि 2022 के विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी उत्तर प्रदेश में चुनाव लड़ेगी. केजरीवाल ने कहा आज उत्तर प्रदेश को प्रगति की राह पर चलने से गंदी राजनीति और भ्रष्ट नेता रोक रहे हैं. आज यूपी की राजनीति में सही और साफ नीयत की कमी है और वो केवल आम आदमी पार्टी के पास है. उन्होंने कहा ''उत्तर प्रदेश में हर पार्टी की सरकार आई लेकिन अपने घर भरने के सिवा किसी ने यूपी के लिए कुछ नहीं किया. आज छोटी-छोटी सुविधाओं के लिए यूपी के लोगों को दिल्ली क्यों आना पड़ता है?''

दिल्ली के मुख्य मंत्री अरविन्द केजरीवाल ने हालही में उत्तराखंड ने भी विधानसभा चुनाव लड़ने का ऐलान किया था. उन्होंने कहा ''हमने उत्तराखंड में सर्वे कराया, उसमें 62 प्रतिशत लोगों ने कहा कि हमें उत्तराखंड में चुनाव लड़ना चाहिए, तब हमने तय किया कि आम आदमी पार्टी उत्तराखंड में चुनाव लड़ेगी. उत्तराखंड में रोज़गार, शिक्षा और स्वास्थ्य प्रमुख मुद्दे हैं.


 
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा ''दोनों पार्टियों(कांग्रेस और बीजेपी) से लोगों की उम्मीद खत्म हो चुकी है, AAP से लोगों की उम्मीद है और चुनाव उम्मीद पर लड़ा जाता है. उत्तराखंड में फरवरी 2022 में जो विधानसभा चुनाव होंगे उसमें सभी सीटों पर आम आदमी पार्टी चुनाव लड़ेगी''.

दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन में भी आम आदमी पार्टी पूरा समर्थन दे रही है. आप नेता असांजे सिंह ने कहा ''पूरा देश इस वक्त किसानों के आंदोलन के साथ है. दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा है कि हम सड़क से लेकर संसद तक किसानों के आंदोलन में उनका साथ देंगे. हमने इस बिल का सबसे पहले संसद के अंदर विरोध किया था.'' संजय सिंह ने कहा ''सरकार यह काला क़ानून अपने दो मालिकों के लिए लेकर आई है. एक का नाम है अडानी और दूसरे का नाम है अंबानी. यह क़ानून देश के किसानों के हित के लिए नहीं है.''

सोमवार को केजरीवाल ने कहा ''पिछले हफ्ते मैं भी किसानों के पास जाना चाह रहा था लेकिन इन्होंने मेरे दरवाजे बंद कर दिए मुझे जाने नहीं दिया. लेकिन हमें क्या फर्क पड़ता है हमने घर पर बैठकर ही किसानों के आंदोलन की सफलता के लिए प्रार्थना कर ली. आज पूरी आम आदमी पार्टी उपवास पर बैठी है.'' केजरीवाल ने कहा ''दुख होता है जब किसानों को बदनाम करने के लिए कहा जाता है कि किसान आतंकवादी हैं, देशद्रोही हैं, किसान टुकड़े-टुकड़े गैंग और चीन-पाकिस्तान के एजेंट हैं. बता दूं इन्हीं किसानों के भाई-बेटे चीन और पाकिस्तान के बॉर्डर पर बैठकर देश की सुरक्षा कर रहे हैं.''

Gold Price Today : बड़ी गिरावट के बाद आज फिर बदली गोल्ड की कीमतें, जानिए दिल्ली, पटना और लखनऊ के दाम

First published: 15 December 2020, 13:48 IST
 
अगली कहानी