Home » दिल्ली » Arvind kejriwal: I heard that Modi govt taping Judges phone calls
 

केजरीवाल ने पीएम मोदी के सामने कहा- 'सरकार जजों के फोन टैप करा रही है'

कैच ब्यूरो | Updated on: 31 October 2016, 16:10 IST
(एजेंसी)

आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में सरकार पर आरोप लगाया कि केंद्र सरकार जजों के फोन टैप करा रही है.

केजरीवाल ने जिस कार्यक्रम में यह बात कही उसमें पीएम मोदी के अलावा चीफ जस्टिस टीएस ठाकुर, दिल्ली के उपराज्यपाल नजीब जंग और केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद मौजूद भी थे. यह कार्यक्रम दिल्ली हाईकोर्ट के गोल्डन जुबली के मनाने के लिए आयोजित किया गया था.

दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने केंद्र सरकार को घेरते हुए आरोप लगाया कि उन्होंने दो जजों की आपसी बातचीत में सुना है कि उनके फोन को टेप किया जा रहा है. अगर ऐसा वाकई में है तो यह बहुत दुखद और भयावह है पूरी न्यायपालिका के लिए.

उन्होंने कहा, "न्यायपालिका में रिक्त पदों की बहाली में हो रहे विलंब के बारे में बोलते हुए केजरीवाल ने कहा कि यह भी बेहद गंभीर चिंता का विषय है, इसकी अनदेखी नहीं की जा सकती है."

केजरीवाल ने आगे कहा, "रिक्त पदों की नियुक्ति में हो रही देरी से तरह-तरह की अफवाहों का जन्म होता है, जो हमारे लोकतंत्र के लिए खतरनाक है. कॉलेजियम ने केंद्र सरकार को सूची भेजी, लेकिन केंद्र सरकार ने पद नहीं भरे. इस संदर्भ में ऐसा नियम बनाना चाहिए कि कॉलिजियम की सिफारिश मिलते ही 48 घंटे में केंद्र सरकार को उसे लागू करना पड़े."

पीएम मोदी के समाने केजरीवाल के इस बयान से सकते में आए कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने तुरंत कहा कि मैं इस तरह के किसी भी कथन का पूरी तरह से खंडन करता हूं और मैं पूरी प्रतिबद्धता से कहता हूं किसी भी जज के फोन को टैप नहीं किया जा रहा है.

रविशंकर प्रसाद ने आगे कहा कि केंद्र की मोदी सरकार न्यायपालिका की आजादी और मजबूती के लिए पूरी तरह से निष्ठावान और प्रतिबद्ध है.

वहीं पीएम मोदी ने कार्यक्रम में केजरीवाल के बयान के बाद माहौल को हल्का करने के लिए कहा कि कोर्ट जाने का कभी सौभाग्य नहीं मिला, लेकिन सुना है वहां गंभीरता से काम होता है. अरे मुस्कुराइए तो.

पीएम मोदी ने कहा कि दिल्ली हाईकोर्ट के 50 साल पूरे हुए, इसमें हर व्यक्ति का योगदान रहा है और इसमें वो भी जरूर शामिल रहा होगा, जिसने कोर्ट परिसर में चाय बेची होगी.

First published: 31 October 2016, 16:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी