Home » दिल्ली » Arvind Kejriwal meets lg anil baijal on the issue of transfer posting after SC verdict on power of delhi
 

केंद्र सरकार के SC की अवमानना करने से देश में फैल सकती है अराजकता- केजरीवाल

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 July 2018, 17:38 IST

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की उपराज्यपाल अनिल बैजल से शुक्रवार को मुलाकात के बाद एक बार फिर टकराव की स्थिति पैदा हो गई है. अरविंद केजरीवाल ने एलजी से मुलाकात के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस की. इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में उनके साथ दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया भी थे. 

दरअसल सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद दिल्ली में शासित आम आदमी पार्टी की सरकार ने कैबिनेट की मीटिंग बुलाकर ट्रांसफर और पोस्टिंग को लेकर नए बदलाव किए. इन बदलावों में दिल्ली के सीएम केजरीवाल को इसके अधिकार दिए गए. सेवा विभाग ने इस आदेश का पालन करने से इनकार करते हुए कहा कि उच्चतम न्यायालय ने केंद्रीय गृह मंत्रालय की 21 मई 2015 की वह अधिसूचना निरस्त नहीं की जिसके अनुसार सेवा से जुड़े मामले उप-राज्यपाल के पास रखे गए हैं.

केजरीवाल ने कहा कि एलजी ने उनसे सहमति जताई कि उनके पास फाइलें भेजने की जरूरत नहीं है, वो अब बस इन फैसलों की जानकारी उन्हें दें. ये हमारे लिए बहुत सहयोग की बात है क्योंकि कई फाइलें अभी भी रुकी हुई हैं.  

दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने इसके साथ ही केंद्र सरकार पर सुप्रीम कोर्ट की अवमानना का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि अब ये साफ हो गया कि केंद्र सरकार जमीन, पुलिस और लॉ एंड ऑर्डर है. इसके बावजूद भी वो दिल्ली सरकार को काम नहीं करने दे रही है. केंद्र सरकार के कोर्ट के फैसले ना मिलने से  देश में अराजकता आ सकती है. 

केजरीवाल ने कहा कि उन्होंने एलजी से ट्रांसफर पोस्टिंग के कानून में बदलाव पर कहा कि साल 2015 में गृह मंत्रालय ने इस संबंध में नोटिफिकेशन जारी किया था कि ये अधिकार एलजी के अधीन है. जबकि सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले सबके अधिकार तय कर दिये है. 

इससे पहले दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने ट्वीट कर जानकारी दी कि उनकी दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया से 25 मिनट तक बातचीत हुई.  इसनें उन्होंने दिल्ली के विकास और सुशासन के लिए पूरी तरह सहयोग का आश्वास दिया. 

First published: 6 July 2018, 17:24 IST
 
अगली कहानी