Home » दिल्ली » Burari Death Mystery: Psychological autopsy to be done to know the exact reason
 

बुराड़ी कांड : मृतकों का दिमाग पढ़ने के लिए अब होगा मनोवैज्ञानिक पोस्टमॉर्टम

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 July 2018, 17:06 IST

दिल्ली के बुराड़ी में हुई 11 लोगों की मौत की गुत्थी पूरी तरह से सुलझाने के लिए पुलिस ने परिवार की मानसिकता का पता लगाने के लिए शवों के मनोवैज्ञानिक पोस्टमॉर्टम कराने का फैसला किया है. दरअसल पुलिस मृतकों का साइकोलॉजिकल ऑटोप्सी कराने की तैयारी कर रही है, जिससे यह समझा जा सके कि वास्तव में खुदकुशी से पहले उनके दिमाग में क्या चल रहा था.

बता दें कि इस प्रकार के पोस्टमॉर्टम में परिवार के जीवित सदस्यों की मानसिकता और मृतकों की दिमागी हालत की मैपिंग की जाती है. जैसा कि घटनास्थल से ‘वट तपस्या’ का अभ्यास करने की बात सामने आई है, जिसमें लोग बरगद का पेड़ और उसकी टहनियां बनने की कोशिश करते हैं. उन्होंने कहा कि विशेषज्ञ मृतकों की मानसिकता के बारे में जानने का प्रयास करेंगे.

गौरतलब है कि राजधानी दिल्ली में सनसनी तक मची जब एक खबर सामने आई की दिल्ली के बुराड़ी इलाके में एक ही घर से 11 लोगों ने सामूहिक तौर पर फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी. इस सामूहिक खुदकुशी के दौरान कुछ लोगों के हाथ-पैर रस्सी से बंधे थे. वहीं मृतकों में 7 महिलाएं और चार पुरूष शामिल थे. ये सभी शव घर के अंदर लटके हुए थे और इनके मुंह और आंखों पर पट्टी बंधी हुई थी.

ये भी पढ़ें-बुराड़ी कांड में सबस बड़ा खुलासा: भाटिया परिवार ने 6 दिन की थी फंदे पर लटकने की प्रैक्टिस

इसके बाद पुलिस छानबीन कर रही है और रोज नये खुलासे हो रहे हैं. इस दौरान दिल्ली पुलिस को ऐसे कई सबूत मिले हैं जिससे पुलिस ने मौत की गुत्थी सुलझाने का दावा किया है. पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज, घर में मिले 11 रजिस्टर और कई सबूतों के चलते मौत की गुत्थी सुलझाने की बात कही. क्राइम ब्रांच को घर से 11 रजिस्टर मिले हैं जिनमें मौत की पूरी स्क्रिप्ट पहले से ही लिखी हुई है.

First published: 6 July 2018, 17:03 IST
 
अगली कहानी