Home » दिल्ली » Arvind Kejriwal attacks Modi Govt termed as a big scam and surgical strike against poor people
 

केजरीवाल: नोटबंदी से पहले मोदी और भाजपा ने अपने दोस्तों को सतर्क किया

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 November 2016, 11:21 IST
(एएनआई)
QUICK PILL
  • दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने मोदी सरकार के पांच सौ और एक हजार के पुराने नोट बंद करने के फैसले को बड़ा घोटाला करार दिया है.
  • केजरीवाल ने कहा है कि मोदी सरकार ने अपने करीबियों को पहले सूचना दे दी थी, जिससे उन्होंने अपना काला धन बैंकों में आठ नवंबर से पहले ही जमा करा लिया था.
  • केजरीवाल ने कहा कि यह पता लगाया जाना चाहिए कि जुलाई से सितंबर के दौरान जमा हुआ यह पैसा किसका है? साथ ही केजरीवाल ने पीएम मोदी, अमित शाह और बीजेपी से तीन सवाल पूछ हैं.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पांच सौ और एक हजार के पुराने नोट बंद करने के फैसले को बड़ा घोटाला करार दिया है. प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान केजरीवाल ने मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा. साथ ही केजरीवाल ने कहा कि इससे कोई काला धन वापस नहीं आने वाला, बल्कि इसके हाथ बदल जाएंगे.

केजरीवाल ने इस दौरान कहा, "दो दिन पहले देश में भ्रष्टाचार कम करने के नाम पर असल में एक बहुत बड़े स्तर पर घोटाले को अंजाम दिया जा रहा है. एलान करने से पहले पीएम मोदी और भाजपा ने अपने सारे दोस्तों को सतर्क कर दिया. जिनके पास काला धन है. उन्होंने अपना माल ठिकाने लगा दिया." 

दिल्ली के सीएम ने इस कदम को आम जनता और गरीबों पर हमला बताते हुए कहा, "मोदी जी का सर्जिकल स्ट्राइक काले धन के ऊपर नहीं है. आम जनता की बरसों से जोड़ी हुई बचत पर स्ट्राइक है."

'जनता परेशान, काले धन वाले मस्त'

केजरीवाल ने इस दौरान पांच सौ और हजार रुपये के पुराने नोट हटाने के साथ ही दो हजार के नए नोट लाने पर भी सवाल उठाए. केजरीवाल ने कहा कि मोदी सरकार की ओर से जानबूझकर यह संकट खड़ा किया गया है. जिससे लोग दलालों के पास दौड़े-दौड़े चले आएं.

संवाददाता सम्मेलन के दौरान केजरीवाल ने कहा, "यह काले धन पर सर्जिकल स्ट्राइक नहीं है केवल एक हाथ से दूसरे हाथ तक काला धन पहुंचेगा. इसका अर्थव्यवस्था में इस्तेमाल नहीं होगा."

केजरीवाल ने पुराने नोट बंद करने का फैसला वापस लेने की मांग करते हुए कहा कि सिस्टम के अंदर अगर आम जनता का भरोसा खत्म हो गया, तो यह खतरनाक चीज है. पैसे के लिए कई जगह लाइन में लगने से लोगों की मौत हो रही है. 

केजरीवाल ने कहा, "मैं अमित शाह से पूछना चाहता हूं कि ढाई लाख से ज्यादा रुपये रखने वालों को छोड़ेंगे नहीं. इसका मतलब क्या वह लोग बेईमान हैं, या ढाई हजार करोड़ रखने वाले. अर्थव्यवस्था चरमराने वाली है." 

केजरीवाल ने साथ ही कहा कि लोग अपना काम करेंगे बच्चों को पढ़ाएंगे या नोट बदलने के लिए लंबी कतार में लगेंगे. इस फैसले से गरीब, मजदूर, किसान, मध्य वर्ग परेशान हो रहा है, जबकि काला धन रखने वाले आराम फरमा रहे हैं.

'तीन महीने में कैसे बढ़ा बैंक डिपॉजिट?'

अरविंद केजरीवाल ने न्यूज चैनल सीएनबीसी टीवी 18 की रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि जुलाई, अगस्त और सितंबर इन तीन महीनों में बैंकों का लेन-देन अचानक से एक फीसदी बढ़ा है. इसका मतलब कई हजार करोड़ रुपया बैंकों में अचानक जमा हुआ है.

केजरीवाल ने कहा कि सरकार बताए कि यह पैसा कहां से आया और उनके किन दोस्तों का है? सीएनबीसी टीवी 18 की रिपोर्ट का हवाला देते हुए केजरीवाल ने आरोप लगाया कि पीएम मोदी के एलान से पहले पिछले तीन महीनों में बैंकों के डिपॉजिट में उछाल क्यों देखी गई? 

केजरीवाल ने काले धन वालों की पौ बारह होने का आरोप लगाते हुए कहा, "सोना तीस हजार से साठ हजार रुपये में एक तोला बदला जा रहा है. 68 से 120 रुपये में एक डॉलर दलाल बदल रहे हैं. काला धन निवेश हो रहा है. रियल स्टेट सेक्टर में दोगुना उछाल हुआ है."

केजरीवाल के तीन सवाल

1. मैं पीएम मोदी, अमित शाह और भाजपा से पूछना चाहता हूं कि आपकी नजरों में किसके पास काला धन है? अंबानी, अडानी, सुभाष चंद्रा और बादल परिवार या गृहिणी, व्यापारी, किराना कारोबारी, किसान और मजदूर के पास?

2. आठ नवंबर के पहले आपने अपने किन दोस्तों का काला धन सफेद करवाया. क्या आप उनकी लिस्ट सार्वजनिक करेंगे जिनका काला धन सेट करा दिया गया है?

3. बड़े स्तर पर घोटाले की साजिश चल रही है, यह सारा काला पैसा आखिर किसके पास जा रहा है?

केजरीवाल ने इस दौरान कहा कि इस सरकार की नीयत में खोट है. प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान केजरीवाल ने पंजाब के भाजपा नेता संजीव कंबोज पर सवाल उठाए.

केजरीवाल ने कहा कि पंजाब में भाजपा के लीगल अफेयर्स डिपार्टमेंट के उपसंयोजक संजीव कंबोज ने पीएम मोदी के एलान से तीन दिन पहले ही दो हजार के नए नोटों की तस्वीर ट्विटर पर कैसे शेयर कर दी. पंजाब में आप के संयोजक गुरदीप वरैच ने भी इस पर सवाल उठाए हैं.

संजीव कंबोज ने छह नवंबर को दो हजार के नए नोट की गड्डी की तस्वीर ट्विटर पर पोस्ट की थी. अभी यह साफ नहीं है कि यह फोटो पहले की है या पीएम मोदी के एलान के बाद की. 

First published: 12 November 2016, 11:21 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी