Home » दिल्ली » Defamation Case: Kumar Vishwas wrote to Arun Jaitley tendering apology
 

मानहानि केस: कुमार विश्वास ने पत्र लिखकर जेटली से मांगी थी माफी, बदले में मिला ये

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 May 2018, 14:34 IST

आम आदमी पार्टी नेता और कवि कुमार विश्वास को बड़ी राहत मिली है. केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने उनके खिलाफ मानहानि का मुकदमा वापस ले लिया है. विश्वास ने अरुण जेटली को पत्र लिख कर पूरे मामले में अपना पक्ष स्पष्ट किया था. इसी पत्र के बाद अरुण जेटली द्वारा यह मुक़दमा वापस ले लिया गया. 

बता दें कि केन्द्रीय मंत्री अरुण जेटली के द्वारा डीडीसीए केस में दस करोड़ रुपए की मानहानि का केस किया गया था. लेकिन कुछ दिनों पहले अरविंद केजरीवाल समेत अन्य सभी नामजदों ने अरुण जेटली से माफी मांग ली थी जिसके बाद अरुण जेटली ने उनके ख़िलाफ़ केस वापस ले लिया था.

इन नेताओं में अरविंद केजरीवाल के अलावा आशुतोष, संजय सिंह, राधव चड्ढा और दीपक वाजपेयी का नाम था. उनकी माफी को कोर्ट ने मंजूर कर शिकायत वापस लेने की इजाजत दे दी थी. 

इसके बाद इस केस में सिर्फ कुमार विश्वास ही बचे थे. फिर विश्वास ने जेटली को पत्र लिखकर मामले में अपनी बात रखी थी. उन्होंने पत्र में लिखा था कि अपनी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल के कहने पर ही उन्होंने और पार्टी के अन्य कार्यकर्ताओं तथा प्रवक्ताओं ने उनकी बात दोहराई थी.

विश्वास ने लिखा था कि अब अरविंद केजरीवाल उनसे सम्पर्क नहीं में नहीं हैं और झूठ बोल कर स्वयं गायब हो गए हैं. विश्वास ने लिखा था कि अरविंद आदतन झूठे हैं और पार्टी कार्यकर्ता होने के नाते उन्होंने सिर्फ़ अरविंद की बात दुहराई थी. 

पढ़ें- अशफाक की सोच को सलाम, SSB के जवान की बेटी की जिंदगी बचाने को तोड़ा रोजा

पत्र में विश्वास ने स्पष्ट किया था कि किस तरह अरविंद केजरीवाल ने उन्हें, पार्टी कार्यकर्ताओं और देश को धोखे में रख कर कुछ तथाकथित सबूतों के हवाला देते हुए जेटली पर आरोप लगाए थे. इसी पत्र के आधार पर वित्त मंत्री द्वारा अरुण जेटली ने मानहानि मुक़दमा वापस ले लिया है.

First published: 28 May 2018, 14:34 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी