Home » दिल्ली » Delhi Burari Death case: Delhi police says, Postmortem of 6 bodies completed. Police sources mention 'ligature hanging' as the reason behin
 

बुराड़ी कांड: पुलिस को 'बाबा' की तलाश, मृतक की बहन बोली- यह तंत्र-मंत्र नहीं हत्या है

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 July 2018, 16:33 IST

दिल्ली के बुराड़ी के संत नगर इलाके में एक ही परिवार के 11 लोगों मौत के बाद देश भर में सनसनी मच गई है. एक ही परिवार के 11 लोगों की मौत पुलिस के लिए रहस्य बनी हुई है. सूत्रों की मानें तो पुलिस को इस मामले में मृतकों के मोबाइल फोन से बाबा का क्लू मिला है, जिसको लेकर पुलिस ने जांच शुरू कर दी है. पुलिस उस बाबा की तलाश कर रही है.

पुलिस सूत्रों के अनुसार मृतक परिवार एक स्वयंभू बाबा को मानता था. पुलिस को मृतकों के मोबाइल फोन से बाबा का क्लू मिला है और उसकी सरगर्मी से तलाश की जा रही है. वहीं, मृतकों घर में मिले दो रजिस्टरों में लिखे गए तंत्र-मंत्र भी मौत के पीछे अंधविश्वास की ओर इशारा कर रहे हैं. हालांकि पुलिस की तरफ से अभी तक अंधविश्वास को लेकर कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है. इसी बीच मृतक के रिश्तेदारों ने अंधविश्वास की बातों को खारिज कर दिया है. उनका कहना है कि ये आत्महत्या नहीं, बल्कि हत्या की गई है.

एनएनआई की खबर के मुताबिक,  संयुक्त पुलिस आयुक्त (क्राइम ब्रांच) आलोक कुमार ने कहा कि 11 में से 6 शवों का पोस्टमार्टम हो गया है. पोस्टमार्टम में सामने आया है कि मौत लटकने से हुई है. रिपोर्ट में गला घोंटने या हाथापाई के कोई संकेत नहीं मिले हैं. 

सूत्रों की मानें तो, पुलिस इस मामले में सभी ऐंगल से जांच कर रही है. रजिस्टर की लिखावट का मिलान मृतकों लिखावट से करने की कोशिश की जा रही है. पुलिस के अनुसार, डायरी में 'सामूहिक सूइसाइड' को 'विशेष साधना' का नाम दिया गया है. डायरी में और भी कई बातें लिखीं गई हैं. इसके अलावा मृतकों के मोबाइल एक मंदिर के पास पॉलिथीन में बंधे मिले थे. जो सभी साइलेंट मोड पर थे. यही वजह है कि पुलिस इस मामले की जांच अंधविश्वास के ऐंगल से भी कर रही है.

मृतकों की बहन ने तंत्र-मंत्र की बात को कहा गलत

एक तरफ पुलिस जांच में इन 11 मौतों के पीछे तंत्र मंत्र की बात सामने आ रही है. वहीं दूसरी तरफ मृतक दो भाइयों ललित और भूपी की बहन सुजाता ने कहा कि उनके परिवार में कोई परेशानी नहीं थी. 'लोग अंधविश्वास की बात कह रहे हैं. मैं बता दूं कि ऐसा कुछ नहीं था. उन्होंने कहा कि मेरे परिवार के लोग धार्मिक जरूर थे, लेकिन किसी बाबा के तंत्र मंत्र के चक्कर में नहीं थे. पूरा परिवार खुश था. किसी तरह का कोई दबाव नहीं था. परिवार के तंत्र-मंत्र की बात झूठी थी. घर का दरवाजा खुला है और पुलिस कह रही है कि आत्महत्या हुई है. ऐसा नहीं है. पुलिस को ठीक से जांच करनी चाहिए यह हत्या का ही मामला है.'

गौरतलब है कि रविवार रात को बुराड़ी के संत नगर में एक ही परिवार के 11 लोगों के शव थे. इसमें 10 लोगों के शव लटके हुए थे. वहीं परिवार की सबसे बुजुर्ग महिला का शव जमीन पर पड़ा हुआ मिला था. पोस्टमार्टम में बुजुर्ग महिला की मौत का कारण गला दबाना सामने आया था. पुलिस इस पूरे मामले की जांच कर रही है. फिलहाल 11 लोगों की मौत का मामला रहस्यमयी बना हुआ है.

ये भी पढ़ें- दिल्ली: बुराड़ी में मिले 11 संदिग्ध शव की डेथ मिस्ट्री का रहस्य जानकर दहशत में आ जाएंगे आप

First published: 2 July 2018, 16:33 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी