Home » दिल्ली » Delhi CM & AAP leader Arvind Kejriwal's famous blue Maruti WagonR car stolen from Delhi Secretariat
 

दिल्ली सचिवालय से चोरी हुई सीएम केजरीवाल की नीली वैगनआर

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 October 2017, 19:08 IST

राजधानी दिल्ली में चोरों के हौसले इतने बुलंद हो चुके हैं कि गुरुवार को उन्होंने राज्य के मुखिया अरविंद केजरीवाल की मशहूर नीली वैगन आर कार को ही चोरी कर लिया. चोरी की यह वारदात अति सुरक्षित समझे जाने वाले दिल्ली सचिवालय के सामने हुई.

इस घटना ने दिल्ली की सुरक्षा पर कई सवाल खड़े कर दिए हैं. न्यूज एजेंसी एएनआई से प्राप्त जानकारी के मुताबिक गुरुवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की नीली रंग की कार दिल्ली सचिवालय के सामने खड़ी थी. दोपहर करीब एक बजे चोरों ने उस पर हाथ साफ कर दिया.

मामले की जानकारी मिलते ही दिल्ली पुलिस के अधिकारी मौके पर पहुंचे. आसपास के इलाके में नाकाबंदी कर कार की तलाश की जा रही है. दिल्ली में सचिवालय के सामने से मुख्यमंत्री की कार चोरी होने की घटना से दिल्ली पुलिस की खूब किरकिरी हो रही है.

दिल्ली पुलिस ने कार चलाने वाली आप की कार्यकर्ता वंदना की शिकायत पर चोरी का मामला दर्ज कर लिया है और तेजी से जांच शुरू कर दी है. सचिवालय के सीसीटीवी फुटेज भी खंगाले जा रहे हैं ताकि चोरों का पता किया जा सके.

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री बनने से पहले और मुख्यमंत्री बनने के बाद भी अरविंद केजरीवाल अपनी इसी नीली कार से चलते थे. मुख्यमंत्री की ये कार काफी चर्चाएं बटोर चुकी है. दरअसल ये कार अरविंद केजरीवाल ने खुद नहीं खरीदी थी. कुंदन शर्मा नाम के शख्स ने इस कार को आम आदमी पार्टी को दान में दिया था. कुंदन लंदन में सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं.

जानकारी के मुताबिक जब अरविंद केजरीवाल ने अन्ना आंदोलन के बाद अपनी पार्टी बनाने का ऐलान किया तो उनको लोगों से मदद की जरूरत थी. ऐसे में लंदन के कुंदन ने अपनी ब्लू वैगनआर केजरीवाल की पार्टी को दान कर दी. पार्टी ने एक लेटर जारी कर इस दान को स्वीकार किया था.

इससे पहले सीएम केजरीवाल लंबे समय से दिल्ली पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते रहे हैं. दरअसल दिल्ली पुलिस केंद्र सरकार के अंतर्गत आती है. सीएम केजरीवाल की मांग है कि दिल्ली पुलिस को राज्य सरकार के अंतर्गत किया जाए ताकि दिल्ली में कानून व्यवस्था स्थापित की जा सके.

First published: 12 October 2017, 19:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी