Home » दिल्ली » Delhi Election: QR Code to be used on first voter slip in the country, here is full information
 

Delhi Assembly Election 2020: देश में पहली बार मतदाता पर्ची पर होगा QR कोड का इस्तेमाल, मोबाइल से कर सकते हैं स्कैन

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 January 2020, 12:16 IST

Delhi Assembly Election 2020 : चुनाव आयोग ने सोमवार को दिल्ली विधानसभा चुनाव के तारीख का ऐलान कर दिया है. दिल्ली में चुनाव 8 फरवरी 2020 को चुनाव होगा. मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा कि मतगणना 11 फरवरी को होगी. दिल्ली चुनाव का नोटफिकेशन 14 जनवरी जारी होगा, जबकि नामांकन भरने की अंतिम तिथि 22 जनवरी है. उम्मीदवारों के नाम वापस लेने की अंतिम तिथि 24 जनवरी है. यह पूरी चुनावी कवायद 12 फरवरी 2020 तक पूरी हो जाएगी.

दिल्ली विधानसभा चुनाव में इस बार सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (AAP), भारतीय जनता पार्टी (BJP) और कांग्रेस के बीच कड़े मुकाबले की संभावना है. मतदाताओं को सुविधा प्रदान करने और उनकी पहचान में तेजी लाने के लिए दिल्ली देश का पहला राज्य / केंद्र शासित प्रदेश होगा, जिसमें मतदाता पर्ची पर एक क्यूआर कोड होगा. दिल्ली के मुख्य चुनाव आयुक्त ने हाल ही में कहा था कि दिल्ली पहला राज्य / केंद्र शासित प्रदेश होगा जिसमें देश में पहली बार प्रत्येक मतदान केंद्र में एक बूथ ऐप का उपयोग किया जाएगा.

क्यूआर कोड क्या है?

क्विक रेस्पॉन्स कोड (QR) कोड ने उस आइटम के बारे में जानकारी होती है जिससे वह जुड़ा होता है. यह एक टू-डाइमेंशनल बार कोड है जिसे पहली बार 1990 के दशक में बनाया गया था. शुरुआत में इन कोड को पढ़ने और उत्पाद के बारे में जानकारी प्रदर्शित करने के लिए मशीनें थीं. आजकल मोबाइल फोन इन कोड का उपयोग करने में सक्षम हैं और चुनाव आयोग इस तकनीक का उपयोग करने की योजना बना रहा है. इसका मतलब यह भी है कि मतदाताओं को अपने मोबाइल फोन को मतदान केंद्र तक ले जाने की अनुमति होगी.

दिल्ली चुनाव में QR कोड कैसे मदद करेगा?

मतदाता वोटर स्लिप ले जाने के लिए मतदाता हेल्पलाइन ऐप से क्यूआर कोड डाउनलोड कर सकेंगे. फिर क्यूआर कोड को स्कैन किया जा सकता है. हालांकि उनके मोबाइल फोन को QR कोड की स्कैनिंग के बाद जमा किया जाएगा. CEC अरोड़ा ने सोमवार को कहा कि मतदान केंद्रों पर फोन के लिए लॉकर की सुविधा दी जाएगी.

दिल्ली विधानसभा चुनाव की तारीखों का हुआ ऐलान, 8 फरवरी को मतदान 11 को आएंगे नतीजे

दिल्ली में सोमवार को प्रकाशित अंतिम चुनावी सूची के अनुसार, कुल 1.46 करोड़ मतदाता आगामी दिल्ली विधानसभा चुनाव में अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे. चुनाव आयोग ने कहा कि चुनावों के सफल समापन के लिए 90,000 अधिकारियों को तैनात किया जाएगा. अरविंद केजरीवाल की अगुवाई वाली AAP दूसरे कार्यकाल पर नजर गड़ाए हुए है और DTC और क्लस्टर बसों में महिलाओं के लिए मुफ्त सवारी, 200 यूनिट तक बिजली की मुफ्त बिजली को अपनी उपलब्धियां गिना रहा है.

ऑटो-एक्सपो में आ रही है दुनिया की सबसे सस्ती कार, हैल्लो बोलते की हो जाएगी स्टार्ट

 

First published: 6 January 2020, 19:03 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी