Home » दिल्ली » Delhi: FIR against Scoop Whoop co-founder Suparn Pandey after a complaint of sexual harassment was lodged against him
 

'जींस ढीली करो': स्कूप व्हूप के को-फाउंडर सुपर्ण पांडे का मैसेज, FIR दर्ज

रंजन क्रास्टा | Updated on: 12 April 2017, 14:17 IST
(कैच)

स्कूप व्हूप के कोफाउंडर सुपर्ण पांडे के खिलाफ यौन शोषण के आरोप में केस दर्ज किया गया है. दिल्ली पुलिस ने उनके खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोपों को लेकर एफआईआर दर्ज की है. स्कूप व्हूप मीडिया प्राइवेट लिमिटेड की एक पूर्व महिला अधिकारी ने उनके खिलाफ ये आरोप लगाया है. 

कैच न्यूज़ ने इस बारे में पहले ही एक्सक्लूसिव रिपोर्ट प्रकाशित की है. सुपर्ण पांडे के साथ-साथ स्कूप व्हूप के दूसरे सह-संस्थापकों के खिलाफ भी इस मामले को छिपाने की कोशिश करने के आरोप में एफआईआर में नाम जोड़ा गया है. एफआईआर में पीड़िता ने आरोप लगाया है कि कंपनी में 2015 से 2017 के बीच काम करने के दौरान उसे अपने पूरे कार्यकाल में यौन उत्पीड़न झेलना पड़ा. 

स्कूप व्हूप की सीनियर कर्मचारी शिकायतकर्ता ने को-फाउंडर सात्विक मिश्रा और श्रीपर्णा टिकेकर के खिलाफ यौन शोषण के लिए उकसाने और मामले को ठंडे बस्ते में डालने का आरोप लगाया है. सुपर्ण पांडे के खिलाफ दिल्ली के वसंत कुंज पुलिस स्टेशन में धारा 354 ए (लैंगिक उत्पीड़न), धारा 509 (एक महिला की विनम्रता का अपमान) और धारा 506 (आपराधिक धमकी) के तहत एफआईआर दर्ज हुई है.

स्कूप व्हूप के कोफाउंडर सुपर्ण पांडे, श्रीपर्णा टिकेकर और सात्विक मिश्रा

क्या है आरोप?

शिकायतकर्ता के आरोपों के मुताबिक उसने स्कूप व्हूप में तकरीबन दो साल तक काम किया. इस दौरान उन्हें अश्लील कमेंट्स का भी सामना करना पड़ा. पीड़ित का आरोप है कि सुपर्ण पांडे ने सबके सामने उन पर अश्लील टिप्पणी की थी.

आरोप ये भी है कि आधिकारिक जीमेल चैट पर एक अश्लील वीडियो भी भेजा गया, जिसमें कथित रूप से लिखा था कि आप जीन्स ढीली करो. शिकायतकर्ता का ये भी आरोप है कि नशे की हालत में सुपर्ण पांडे ने उसे बार-बार छूने की कोशिश की. 

'मेरे माथे को चूमा और चले गए'

शिकायतकर्ता का कहना है, "उस दिन रात में आठ से साढ़े नौ बजे के बाद जब मीटिंग खत्म हो गई, तो सुपर्ण पांडे मेरे पास आए. उस वक्त मैं वर्क डेस्क पर अकेली थी. उन्होंने मुझसे दूसरों से डील करने में कम आक्रामक होने की सलाह दी और मामले को रफा-दफा करने को कहा. इसके बाद वे उठे और मेरे माथे को चूमा और वहां से चले गए. उनकी इस करतूत से मुझे घृणा हो गई और मुझे महसूस हुआ कि मेरी शारीरिक मर्यादा को पार किया गया है." 

शिकायतकर्ता का ये भी दावा है कि उसका उत्पीड़न यहीं नहीं रुका. आरोपियों ने उसका करियर बर्बाद करने और सार्वजनिक रूप से अपमान करने की धमकी दी. इन सबके बीच उसे आखिरकार कंपनी से इस्तीफ़ा देना पड़ा. 

आरोपों पर साधी चुप्पी

कैच ने आरोपों के बारे में स्कूप व्हूप के तीनों कोफाउंडर से बात करके उनका पक्ष जानने की कोशिश की. सात्विक मिश्रा ने फौरन कोई टिप्पणी करने से इनकार कर दिया, वहीं श्रीपर्णा टिकेकर ने हमसे मुंह बंद रखने को कहा.

दोबारा फोन करने और मैसेज पर जवाब मांगने पर कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली. जबकि मुख्य आरोपी सुपर्ण पांडे ने बयान देने से इनकार करते हुए कहा कि वे अभी सामने नहीं आना चाहते हैं.

First published: 12 April 2017, 13:56 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी