Home » दिल्ली » DElHI: gazipur garbage dumping land collapse after blast in east delhi, cars falls in to canal,2 dead.
 

गाजीपुर डंपिंग यार्डः जानिए क्यों हुआ उत्तर भारत के सबसे बड़े कूड़े के ढेर में ब्लास्ट

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 September 2017, 18:19 IST

पूर्वी दिल्ली के गाजीपुर इलाके में बने कूड़े के ढेर में शुक्रवार को बड़ा ब्लास्ट हुआ. इस ब्लास्ट के कारण कूड़े का पहाड़ भरभराकर गिर गया. इसके मलबे में आने से कई गाड़िया नहर में बह गईं. इस हादसे में दो लोगों की मौत होने की खबर है. मरने वालों में एक लड़की भी शामिल है.

जानकारी के मुताबिक ये हादसा इतना भयानक था कि इसके रास्ते में आने वाले हर नजदीकी रास्ते से जाने वाले बाइक, कार और जेसीबी मशीन के साथ कई महिला और लोग इसके पास में बनी नहर में डूब गए. अभी तक पांच लोगों को बचाया गया है. प्रशासन ने दो लोगों की मौत की पुष्टि की है. राहत और बचाव कार्य जारी हैं.

घटनास्थल पर मौजूद चश्मदीदों के मुताबिक ऐसा लग रहा था जैसे कूड़े के अंदर कोई गैस बन गई थी. इस वजह से कूड़े के पहाड़ का एक हिस्सा लोगों पर गिर गया. हादसे के तुरंत बाद स्थानीय लोगों ने नहर में कूदकर कुछ लोगों को बचाया तो कुछ लोगों ने कूड़े में दबे लोगों को बाहर निकाल लिया. हादसे के बाद इस रूट से होकर गाजियाबाद जाने वाले रास्ते को बंद कर दिया गया है.

गाजीपुर उत्तर भारत का सबसे बड़ा डपिंग यार्ड

ये कूड़े का ढेर उत्तर भारत का सबसे बड़ा डंपिंग यॉर्ड है. साल 1984 में पूर्वी दिल्ली के गाजीपुर में ये कूड़ाघर बना था. यह डंपिंग यॉर्ड 70 एकड़ इलाके में फैला है. यहां हर रोज़ 3500 मैट्रिक टन कूड़ा डंप किया जाता है. यहां पूरी दिल्ली से प्रतिदिन 600 से 650 ट्रक कूड़ा आता है. इसे बंद करने की आवाज कई बार उठ चुकी है क्योंकि डंपिंग यॉर्ड अब कूड़े के पहाड़ में बदल चुका है. फिलहाल यह पहाड़ 50 फीट ऊंचा है. 

हर रोज गुजरते हैं हजारों वाहन

गाजियाबाद के इंदिरापुरम, वैशाली, वसुंधरा समेत अन्य इलाकों से काफी लोग दिल्ली और नोएडा जाने के लिए इस रूट का इस्तेमाल करते हैं. 

First published: 1 September 2017, 18:19 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी