Home » दिल्ली » Delhi government imposed 'special corona fee' on MRP of liquor, now 70 percent more to be paid
 

दिल्ली सरकार ने शराब पर लगाई 'स्पेशल कोरोना फीस' , अब 70 प्रतिशत अधिक चुकाने होंगे दाम

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 May 2020, 9:10 IST

Delhi government imposed 'special corona fee' on liquor: कोरोना वायरस लॉकडाउन (corona virus lockdown) के बीच दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने शराब (Liquor) के शौकीनों को झटका दिया है. दरअसल, दिल्ली सरकार ने शराब पर 'स्पेशल कोरोना फीस' (Special Corona Fee) नाम का नया टैक्स (Tax) लगाया है. दिल्ली में शराब पर ये नया टैक्स आज यानी मंगलवार से ही लागू हो गया है. इसी के साथ दिल्ली में शराब की कीमतें 70 फीसदी अधिक हो गई है. बता दें केंद्र के साथ दिल्ली सरकार ने भी लॉकडाउन (Lockdown) के बीच 4 मई यानी सोमवार को शराब की दुकानें खोलने का आदेश दिया था.

राजधानी में सोमवार को जैसे ही शराब की दुकानें खुली शराब के शौकीनों की लंबी-लंबी लाइन लग गई. उसके बाद उन्हें रोकने के लिए पुलिस की मदद लेनी पड़ी. शराब खरीदने दुकान पर पहुंचे लोगों ने सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का भी पालन नहीं किया और पहले शराब लेने की जल्दबाजी में एक दूसरे से चिपके नजर आए. राजधानी दिल्ली में इस तरह का नजारा अमूमन शराब की हर दुकान पर देखने को मिला. कई जगह तो लोगों को काबू करने के लिए पुलिस को लाठियां भी भांजनी पड़ी.


Coronavirus: शराब की तय कीमत से ज्यादा वसूला तो खैर नहीं, योगी सरकार लेगी कड़ा एक्शन

ऐसा माना जा रहा है कि शराब की दुकानों पर भीड़ रोकने के लिए दिल्ली सरकार ने ये शराब की कीमत पर स्पेशल कोरोना फीस टैक्स लगाने का फैसला लिया है. खैर जो भी हो दिल्ली में शराब के शौकीनों को अब पहले से 70 फीसदी अधिक दाम चुकाने होंगे.

बता दें कि सोमवार को जैसे ही शराब की दुकानें खुली और वहां लंबी-लंबी लाइन लगी तो दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल की खूब आलोचना हुई. उसके बाद केजरीवाल ने शरीब की दुकानों पर भीड़ को कम करने के लिए ये फैसला लिया है. अब ऐसा माना जा रहा है कि शराब के दाम बढ़ाने से दिल्ली में शराब की दुकानों के बाहर लगने वाली लंबी कतारों में कमी आएगी. साथ ही सरकार को कोरोना संकट के दौरान अतिरिक्त राजस्व भी मिलेगा.

मजदूरों से किराया वसूलने की बात निकली झूठी ! सरकार ने कहा- कभी पैसे लेने की बात कही ही नहीं

सोमवार शाम को ही मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल स्पष्ट कह चुके हैं कि दुकान के सामने भीड़ लगी तो दुकान को सील कर दिया जाएगा. सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हर हाल में लोगों को करना होगा. इसके साथ ही अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि अप्रैल महीने में पिछले साल की तुलना में राजस्व में काफी गिरावट हुई है. पिछले साल अप्रैल में जहां 3500 करोड़ राजस्व की वसूली हुई थी, वहीं इस साल अप्रैल में 300 करोड़ ही आए हैं. ऐसे में सरकार चलाना काफी मुश्किल है और हमें अर्थव्यवस्था को खोलना ही होगा.

कोरोना वायरस: रेड जोन का दूल्हा, ग्रीन जोन की दुल्हन, इस अनोखे अंदाज में रचाई शादी

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि केंद्र सरकार की गाइडलाइन के हिसाब से दिल्ली सरकार ने छूट दी हुई हैं, लेकिन सोमवार सुबह कुछ शराब की दुकानों में सामाजिक दूरी के नियम को टूटते देखकर बेहद दुख हुआ. उन्होंने सवाल किया कि इस तरह का खतरा उठाने की क्या जरूरत है? ऐसा नही हैं कि दुकानें बंद हो जाएंगी. अब वह खुली रहेंगी. यदि कहीं किसी को कोरोना हुआ होगा तो बहुत से लोग और उनके परिवार के लोगों पर संक्रमण का खतरा पैदा हो जाएगा.

कोरोना वायरस से मरनेे वालों का आंकड़ा 2 लाख 52 हजार के पार, भारत में 1500 से ज्यादा की मौत

Coronavirus: पिछले 24 घंटों में 83 लोगों ने गंवाई जान, 2573 नए लोग हुए कोरोना संक्रमित

First published: 5 May 2020, 9:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी