Home » दिल्ली » delhi-One person arrested in connection with alleged thrashing of cattle traders in Kalkaji.
 

कालकाजी कांड: दिल्ली पुलिस ने एक आरोपी को किया गिरफ़्तार

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 April 2017, 15:42 IST

शनिवार की रात 11:45 बजे दिल्ली के मशहूर कालकाजी मंदिर के पास गो-रक्षकों के हमले में हमले में दो भैंस कारोबारी और ड्राइवर से मारपीट के आरोप में दिल्ली पुलिस ने एक व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया है. दिल्ली पुलिस के एसएचओ के अनुसार पकड़े गए शख्स का नाम शशांक शर्मा है और ये ट्रासंपोर्ट का काम करता है.

बताया जा रहा है कि मेनका गांधी की संस्था पीपल फॉर एनिमल्स की मीटिंग भी वो अटेंड करता रहा है. जानकारी के मुताबिक कालकाजी में भैंस कारोबारियों पर हमला रात में हुआ. हमले के फौरन बाद पीपल फॉर एनिमल्स संस्था के कार्यकर्ता सामने आए. इस संस्था के गौरव गुप्ता की शिकायत पर कालकाजी पुलिस ने 'पशु क्रूरता' के आरोप में तीन लोगों को गिरफ़्तार किया था.

पीपल फॉर एनिमल्स की चेयरपर्सन मेनका गांधी हैं. इसकी शुरुआत उन्होंने 1992 में की थी. कालकाजी कांड में इनकी संस्था का नाम सामने आया, लेकिन केंद्रीय मंत्री ने अपनी संस्था को हमलावरों से अलग कर लिया.

कालकाजी हमले की चश्मदीद ख़दीजा फ़ारूक़ी ने कैच न्यूज़ से बातचीच में बताया कि उन्होंने इस हमले में दो महिलाओं को देखा. दोनों सड़क पर खड़ी होकर राहगीरों को रोकने और भैंस कारोबारियों को मारने के लिए उकसा रही थीं. चश्मदीद फ़ारूक़ी ने यह भी बताया कि ट्रक पर चढ़कर कारोबारियों को मार रहे लोग माथे पर तिलक लगाए हुए थे और जय श्री राम के नारे लगा रहे थे. 

इसके बाद जानवरों के वेलफेयर के लिए काम करने वाली संस्था पीपल फॉर एनिमल्स जिसकी मुखिया केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी हैं, की दिल्ली यूनिट से जुड़े गौरव गुप्ता की शिक़ायत पर कालकाजी पुलिस ने तीनों घायलों को गिरफ़्तार कर लिया और रविवार रात 8 बजे ज़मानत पर इन्हें रिहा कर दिया गया.

First published: 24 April 2017, 15:42 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी