Home » दिल्ली » Delhi: Repe accused died in hospital
 

दिल्लीः रेप आरोपी की अस्पताल में मौत, भीड़ की पिटाई से गई जान

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 June 2017, 13:25 IST

देश की राजधानी दिल्ली में 4 साल की मासूम के साथ दुष्कर्म की कोशिश करने वाले युवक को भीड़ ने इस कदर पिटाई की कि इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई.

यह मामला पूर्वी दिल्ली के पांडव नगर इलाके का है. जहां बुधवार की रात कुछ लोगों ने पार्क में एक युवक को 4 साल की बच्ची के साथ गलत हरकत करते देखा. युवक नग्न हालत में था. उसी दौरान वहां जुटे लोगों ने उसकी जमकर पिटाई कर दी.

बताया जा रहा है कि पांडव नगर इलाके में स्थित संजय झील में चार वर्षीय मासूम के साथ दुष्कर्म की कोशिश के दौरान भीड़ के हत्थे चढ़े आरोपी ने करीब 30 घंटे के बाद इलाज के दौरान दम तोड़ दिया.

इस मामले में पुलिस ने पीड़ित बच्ची की मां की शिकायत पर आरोपी संजय कुमार गिरी उर्फ सोनू के खिलाफ यौन शोषण और पॉस्को एक्ट के तहत मामला दर्ज किया था.

वहीं संजय पर हमला करने के मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ जानलेवा हमले के प्रयास का केस दर्ज किया था. आरोपी की मृत्यु के बाद अब पुलिस ने केस में गैर इरादतन हत्या की धारा जोड़ दी है. पुलिस ने शनिवार को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को शव सौंप दिया. पुलिस मामले की जांच कर रही है.

खबरों के मुताबिक मूल रूप से उत्तर प्रदेश के बस्ती के चौबा गांव का निवासी संजय पूरे परिवार के साथ शशि गार्डन इलाके में रहता था. वहीं पीड़िता परिवार के साथ पांडव नगर इलाके में रहती है. घर से थोड़ी दूरी पर उसकी मां सब्जी की रेहड़ी लगाती है.

जानकारी के अनुसार गुरूवार की रात करीब दस बजे बच्ची अपनी मां के साथ रेहड़ी के पास खड़ी थी. उसी दौरान संजय उसे उठाकर संजय झील लेकर चला गया. बच्ची की मां को किसी ने बताया कि उसे एक युवक झील की तरफ ले गया है.

जब उसकी मां रात करीब 12 बजे कुछ स्थानीय लोगों के साथ मौके पर पहुंची तो देखा कि आरोपी बच्ची के साथ आपत्तिजनक हालत में था. इस पर लोगों ने संजय की लात-घूंसों से उसकी जमकर पिटाई कर दी.

सूचना पर पहुंची पुलिस ने आरोपी को पहले तो लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल पहुंचाया, उसकी गंभीर हालत को देखते हुए बाद में उसे जीटीबी अस्पताल रेफर कर दिया गया. जीटीबी अस्पताल में वह वेंटिलेटर पर था.

जहां शनिवार की सुबह करीब पांच बजे उसने दम तोड़ दिया. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि पिटाई के दौरान किसी धारदार हथियार के सुबूत नहीं मिले हैं. पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी.

वहीं, मृतक आरोपी संजय के भाई अजय का कहना है कि संजय के साथ लूटपाट हुई और इसका विरोध करने पर उसे पीटा गया. हालांकि पुलिस ने मृतक आरोपी के भाई के इस बयान को खारिज कर दिया है.

First published: 11 June 2017, 13:25 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी