Home » दिल्ली » Delhi Serial Blasts 2005: Patiala House Court to pronounce verdict
 

दिल्ली सीरियल ब्लास्ट में आज फ़ैसले का दिन, 62 की हुई थी मौत

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 February 2017, 10:02 IST
(एएनआई)

2005 में देश की राजधानी दिल्ली में हुए सीरियल ब्लास्ट मामले में आज फैसले का दिन है. दीपावली से एक दिन पहले हुए सिलसिलेवार तीन धमाकों में  62 लोगों की मौत हो गई थी. सीरियल ब्लास्ट में 200 से ज्यादा लोग घायल हुए थे.

दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट के अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश रितेश सिंह इस मामले में आज फैसला सुनाने वाले हैं. पहले इस केस में 13 फरवरी को फैसला सुनाया जाना था.   

तारिक अहमद डार समेत 3 अभियुक्त

इस मामले में तारिक अहमद डार, मोहम्मद हुसैन फाजिल और मोहम्मद रफीक शाह अभियुक्त हैं. तीनों पर धमाके की साजिश रचने का आरोप है. ब्लास्ट का कथित मास्टरमाइंड तारिक अहमद डार को बताया जाता है, जोकि लश्कर-ए-तैयबा का संदिग्ध ऑपरेटिव है.

कोर्ट ने 2008 में डार और अन्य दो अभियुक्तों पर देश के खिलाफ युद्ध छेड़ने, साजिश रचने, हथियार जुटाने, हत्या और हत्या के प्रयास के आरोप तय किए थे. पटियाला हाउस कोर्ट में दाखिल दिल्ली पुलिस की चार्जशीट के मुताबिक डार के कॉल डिटेल से साबित हुआ है कि वह लश्कर-ए-तैयबा के अपने आकाओं के संपर्क में था.

दिल्ली पुलिस ने अक्टूबर 2005 में तीन जगहों- सरोजिनी नगर, कालकाजी और पहाड़गंज में हुए धमाकों के मामले में तीन अलग-अलग एफआईआर दर्ज की थी.

First published: 16 February 2017, 10:02 IST
 
अगली कहानी