Home » दिल्ली » Delhi Police: Paedophile arrested is Sunil Rastogi who is a tailor by profession
 

दिल्ली: ट्रेन से आता था सीरियल रेपिस्ट, 500 से ज़्यादा बच्चियों के यौन शोषण का खुलासा

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 January 2017, 9:57 IST
(एजेंसी)

दिल्ली में एक सीरियल रेपिस्ट के पुलिस के गिरफ्त में आने से सनसनीखेज खुलासा हुआ है. पूर्वी दिल्ली के न्यू अशोकनगर इलाके में दिल्ली पुलिस ने सुनील रस्तोगी नाम के एक शख्स को गिरफ्तार किया है. 

दिल्ली पुलिस का कहना है कि 38 साल के सुनील ने पूछताछ में बताया है कि पिछले 12 साल के दौरान उसने 500 से ज्यादा बच्चियों को अपनी हवस का शिकार बनाया है. वह बच्चियों को झांसा देकर बुलाता था कि पापा उन्हें बुला रहे हैं. इस दौरान बातों में उलझाकर वह सुनसान जगह ले जाकर बच्चियों से रेप की वारदात को अंजाम देता था. 

डीसीपी ईस्ट ओमवीर बिश्नोई का कहना है कि सुनील के पकड़े जाने के बाद रेप की तीन वारदातों का खुलासा हुआ है. डीसीपी ईस्ट का कहना है कि सुनील रस्तोगी नाम का यह शख्स टेलर का काम करता है और उसकी शादी हो चुकी है. 

एक कपड़ा, एक ट्रेन, एक रूट का टोटका

पुलिस के मुताबिक, सुनील उत्तराखंड के रुद्रपुर का रहने वाला है. रामपुर से वह करीब 245 किलोमीटर का सफर करके दिल्ली आता था और यहां बच्चियों से रेप करने के बाद वापस रामपुर आ जाता था. 

पुलिस का यह भी कहना है कि पीडोप्रोफाइल क्रिमिनल सुनील वारदात से पहले एक ही तरह के कपड़े पहनता था. इसके साथ ही वह संपर्क क्रांति ट्रेन से ही आता था. हैरानी की बात यह है कि सुनील एक ही रूट का इस्तेमाल करता था. पुलिस का मानना है कि साइको रेपिस्ट के लिए यह एक टोटके की तरह था. इस बीच दिल्ली की अदालत ने आरोपी सुनील को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है.

ऐसे पकड़ा गया सीरियल रेपिस्ट

2004 तक सुनील रस्तोगी न्यू अशोक नगर में एक टेलर की दुकान पर काम करता था. उस वक़्त बच्चियों के साथ छेड़छाड़ करते पकड़े जाने के बाद इलाके के लोगो ने उसे भगा दिया था. 

2013 में सुनील रस्तोगी एक मासूम से रेप की वारदात में 6 महीने तक रुद्रपुर जेल में बंद रहा. जमानत पर बाहर आने के बाद उसने दोबारा बच्चियों को अपना शिकार बनाना शुरू कर दिया, लेकिन वहां फिर से पकड़े जाने के डर से उसने वारदात की जगह बदल दी. 

डीसीपी ईस्ट ओमवीर सिंह के मुताबिक, मूल रूप से यूपी के रामपुर का रहने वाला आरोपी अभी रुद्रपुर में रह रहा था. 1990 में अपने परिवार के साथ वह दिल्ली आ गया था. 2004 में ही दिल्ली के मयूर विहार में रहने का दौरान उसे और उसके परिवार को मकान मालिक ने घर से निकाल दिया गया था, जब उसने पड़ोसी की बेटी के साथ रेप की कोशिश की. 

सीसीटीवी से बच्ची ने पहचाना

इस घटना के बाद वह रुद्रपुर चला गया. पुलिस के मुताबिक उसकी शादी हो चुकी है. सुनील रस्तोगी के दो बेटे और तीन बेटियां हैं. बड़ी बेटी 15 साल की है. 13 दिसंबर को न्यू अशोक नगर में सात साल की बच्ची को अगवा कर उसने एक खाली मकान की सीढ़ियों पर बच्ची से रेप किया. 

डीसीपी का कहना है कि 10 जनवरी को ठीक इसी तरह 10 और 9 साल की दो बच्चियों के साथ भी रेप की कोशिश की गई. जांच में पता चला कि सभी मामलों में एक ही ट्रेंड है. पुलिस की तफ्तीश में पता चला कि सभी घटनाओं में आरोपी एक ही है. 

2500 से ज्यादा यौन शोषण की कोशिश

जिसके बाद सीसीटीवी फुटेज में बच्ची ने आरोपी की पहचान की. आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस टीम रुद्रपुर पहुंची, मगर रस्तोगी वहां से फरार हो गया. शनिवार को उसे दिल्ली से पकड़ा गया.

पुलिस की पूछताछ में हैरान कर देने वाला खुलासा हुआ है. इसके मुताबिक सुनील रस्तोगी ने 2500 से ज्यादा बच्चे-बच्चियों के साथ यौन शोषण की कोशिश की. उसने 500 से ज्यादा बच्चियों को अपना शिकार बनाया है. यही नहीं उसके खिलाफ दिल्ली, रुद्रपुर और गाजियाबाद में छेड़छाड़ और चोरी के भी कई केस दर्ज हैं.

First published: 16 January 2017, 9:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी