Home » दिल्ली » E-rickshaw driver killed for opposing public urination: Centre steps in, demands action.
 

ई-रिक्शा चालक मर्डर पर बोले नायडू- स्वच्छ भारत को कर रहा था प्रमोट

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 May 2017, 13:39 IST

रविवार को दिल्ली के जीटीबी नगर इलाके में मेट्रो स्टेशन के बाहर पेशाब करने से रोकने पर 32 साल के ई-रिक्शा चालक की कुछ लोगों ने पीट-पीट कर बेरहमी से हत्या कर दी. 

केंद्रीय मंत्री वैंकेया नायडू ने दिल्ली में हुई इस हत्या की कड़ी निंदा की है. नायडू ने ट्वीट किया, "स्वच्छ भारत को प्रमोट करने वाले ई-रिक्शा चालक की हत्या से काफी दुख पहुंचा है. मैंने दिल्ली के पुलिस कमिश्नर से बात की है और सख्त कार्रवाई करने को कहा है."

दिल्ली पुलिस आस-पास के सीसीटीवी की फुटेज खंगाल रही है, ताकि हमलावरों की पहचान हो सके. पुलिस ने रवींद्र के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. मुखर्जी नगर थाने में हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है.

मेट्रो स्टेशन के बाहर पीट-पीट कर हत्या

दरअसल विवाद की शुरुआत तब हुई जब रविंद्र ने दो युवकों को मेट्रो स्टेशन के बाहर पेशाब करने से रोकने की कोशिश की, जिसके बाद बाद ये दोनों युवक उसे देख लेने की धमकी देकर वहां से चले गए.  

रात के करीब 8 बजे ये दोनों लोग अपने 15 से 20 लोगों को लेकर आए. उसके बाद इन लोगों ने रिक्शा चालक को पीटना शुरू किया और ई-रिक्शा चालक की हत्या कर दी. वहां मौजूद चश्मदीदों के मुताबिक आरोपी तौलिये या गमछे में ईंट बांध कर उसे मार रहे थे. हादसे के बाद उसके साथी उसे अस्पताल लगाये, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

ई- रिक्शा चालक रविंद्र मेट्रो स्टेशन के पास एक झुग्गी बस्ती में रहता था. उसकी पिछले साल शादी हुई थी और उसकी पत्नी सात महीने की गर्भवती है.

First published: 29 May 2017, 13:39 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी