Home » दिल्ली » JNU: Delhi Police searching Najeeb in campus, but they not found any clue
 

लंबे-चौड़े पुलिस बल ने छान मारा JNU, फिर भी नहीं मिला नजीब का सुराग

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 December 2016, 11:15 IST
(एजेंसी)

दिल्ली के जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी से संदिग्ध हालात में लापता हुए छात्र नजीब अहमद के मामले में मंगलवार को लगातार दूसरे दिन भी दिल्ली पुलिस ने कैंपस में सर्च ऑपरेशन चलाया.

बताया जा रहा है कि इस ऑपरेशन में लगी क्राइम ब्रांच की कई टीमों ने पूरे जेएनयू में तलाशी ली, लेकिन इसके बाबजूद नजीब का कहीं भी कोई सुराग नहीं मिल पाया है.

तलाशी अभियान के दूसरे दिन 600 से अधिक पुलिस कर्मी, घुड़सवार दस्ते और खोजी कुत्तों की मदद से जेएनयू केंपस का चप्पा-चप्पा छान मारा, लेकिन नतीजा शून्य रहा. वहीं दूसरी ओर नजीब की मां ने मंगलवार को कहा कि दिल्ली पुलिस ने जांच में देरी की है जिसकी वजह से उनके बेटे का सुराग नहीं मिल पा रहा है.

रूम पार्टनर का लाई डिटेक्टर टेस्ट होगा

उनके अनुसार कोर्ट के आदेश के बाद जो कार्रवाई पुलिस ने की है, अगर वह पहले की होती तो शायद उनका बेटा मिल जाता. इसके साथ ही उन्होंने पुलिस प्रशासन से मांग की, कि आरोपियों का लाई डिटेक्टर टेस्ट जल्द कराया जाए, जिससे कुछ जानकारी मिलने की उम्मीद है.

इस बीच खबर है कि दिल्ली पुलिस नजीब के रूम पार्टनर का लाई डिटेक्टर टेस्ट कराने की तैयारी कर रही है. दिल्ली पुलिस के अनुसार मंगलवार को क्राइम ब्रांच की विभिन्न टीमों ने जेएनयू के प्रशासनिक ब्लॉक, तमाम हॉस्टल, रिहायशी इलाके, लाइब्रेरी, जंगल, ढाबे और अन्य जगहों की गहन तलाशी ली.

सर्च ऑपरेशन में 600 पुलिसकर्मी

पूरे कैंपस में देर शाम तक चले तलाशी अभियान के बाद पुलिस की टीमें खाली हाथ वापस लौट गई लेकिन लापता छात्र का सुराग नहीं मिला.

दिल्ली पुलिस का कहना है कि मंगलवार सुबह करीब दस बजे ही पुलिस कर्मियों की कई टीमें जेएनयू कैंपस पहुंच गई थी. इसमें करीब दस खोजी कुत्ते समेत 600 पुलिसकर्मी, 12 से अधिक एसीपी, तीन डीसीपी समेत कई अन्य पुलिसकर्मी शामिल हुए.

नजीब के हॉस्टल में भी पूछताछ

इस दौरान कैंपस के तीनों मुख्य दरवाजों को बंद कर दिया गया जबकि मीडिया के साथ बाहर के किसी भी व्यक्ति को आने की अनुमति नहीं दी गई. एक टीम नजीब के हॉस्टल माही-मांडवी भी पहुंची. जहां रह रहे छात्रों से जानकारियां जुटाने के अलावा हॉस्टल के वार्डन से भी पूछताछ की गई. 

दिल्ली पुलिस का कहना है कि सोमवार को जहां साठ प्रतिशत हिस्सा तलाशा गया वहीं मंगलवार को चालीस प्रतिशत हिस्से की जांच की गई. इनमें सीवर व छतों व टंकियों की भी गहन जांच की गई.

First published: 21 December 2016, 11:15 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी