Home » दिल्ली » JNU: Delhi police send notice 30 student in treason
 

JNU विवाद: दिल्ली पुलिस ने 30 छात्र-छात्राओं को पूछताछ के लिए भेजा नोटिस

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 April 2017, 15:17 IST
JNU

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने जवाहर लाल नेहरू युनिवर्सिटी (जेएनयू)) देशद्रोह मामले में जांच एक बार फिर से शुरू कर दी है. सूचना के मुताबिक पुलिस ने इस बार पूछताछ के लिए कुल मिलाकर 30 छात्र और छात्राओं की सूची बनाई है.

बताया जा रहा है कि पूछताछ के लिए छात्र-छात्राओं को आपराधिक प्रक्रिया संहिता की धारा-160 के तहत उनके घर पर नोटिस भेजा जाएगा. मामले में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के इंस्पेक्टर उमेश बर्थवाल ने बताया कि गुरूवार को 10 छात्र-छात्राओं को पूछताछ के लिए बुलाया गया था, लेकिन कोई छात्र नहीं आया.

सूत्रों के मुताबिक दिल्ली पुलिस चाहती है कि इन छात्रों में से कोई एक सरकारी गवाह बन जाएं. यही कारण है कि पुलिस सभी छात्रों से पूछताछ करना चाहती है.

पुलिस ने जिन 30 छात्र-छात्राओ को नोटिस भेजा गया है. उनमें भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के वरिष्ठ नेता डी राजा की बेटी अपराजिता राजा भी शामिल हैं.

दिल्ली पुलिस ने बताया कि स्पेशल सेल ने जेएनयू के उन छात्रों से पूछताछ करने जा रही है, जो देशविरोधी नारे लगाने के समय घटना स्थल पर मौजूद थे. हालांकि पुलिस ने इसके साथ यह भी स्पष्ट किया है कि जिन छात्र-छात्राओं को नोटिस भेजा गया है, वो मामले में आरोपी नहीं हैं.

चूंकि वो उस समय घटनास्थल पर मौजूद इसलिए पुलिस उनसे केवल पूछताछ करना चाहती है. वह देशविरोधी नारे लगाने वालों में शामिल नहीं थे.

जिन 30 छात्र-छात्राओ को नोटिस भेजा गया है, उनके नाम इश प्रकार हैं- चपल सेरपा, वाई उदय कुमार, चिन्मय महानंद, भूपाली विट्ठल मार्गे, अपराजिता राजा, पी सुरुगना यादव, श्वेता राय, चिनैया महाजन, गार्गी अधिकारी, चिंटू कुमारी, ऋतु, सृजन, शिवानी, नितेश, सी फैयाज, शशि त्रिपाठी, सतरूपा चक्रवर्ती, शरबनी चक्रवर्ती, इशान आनंद, अयंतिका, शहला राशिद, जी सुरेश, मोहित, अमन सिन्हा, एन साई बालाजी, अर्पणा, शिवानी राजपूत, श्रीरूपा भट्टाचार्या, बुरहान कुरैशी और कौशिक राज शामिल हैं.

खबरों के मुताबिक इनमें कुछ नाम ऐसे भी हैं जो घटना के बाद देश छोड़ बाहर जा चुके हैं.

First published: 28 April 2017, 13:16 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी