Home » दिल्ली » Know reality of WhatsApp message that reads Delhi to be hit by earthquake with magnitude 9.1 on Richter Scale?
 

WhatsApp वायरलः नासा ने दी दिल्ली में भूकंप की चेतावनी, जानिए क्या है सच्चाई

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 March 2018, 15:09 IST
प्रतीकात्मक तस्वीर

सोशल मीडिया के प्रमुख इंस्टैंट मैसेजिंग प्लेटफॉर्म WhatsApp पर एक संदेश तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें नासा के हवाले से लिखा गया है कि अगले माह की शुरुआत में दिल्ली में 9.1 तीव्रता का भूकंप आएगा. लोग एक-दूसरे को यह मैसेज भेजकर या तो सच्चाई जानने में लगे हुए हैं या फिर अनजाने में ही अफवाह फैलाने में. लेकिन असलियत में क्या है इस संदेश की सच्चाई, चलिए जानते हैं.

सबसे पहले तो जान लीजिए कि यह संदेश अंग्रेजी में लिखा हुआ है. इस संदेश का हिंदी में अनुवाद है, "NASA के मुताबिक, जल्द ही दिल्ली में सबसे बड़ा भूकंप आने वाला है. रिक्टर पैमाने पर इसकी तीव्रता 9.1 या 9.2 हो सकती है. तारीख अभी तक तय नहीं है लेकिन यह 7 से लेकर 15 अप्रैल के बीच में कभी भी आ सकता है. लाखों लोगों की जान जाने की घोषणा की गई है."

इसके बाद संदेश में आगे लिखा है, "रिक्टर पैमाने पर सबसे बड़े इस भूकंप का केंद्र गुरग्राम होगा. नासा ने घोषणा की है कि दुनिया के इतिहास में यह दूसरी बार होगा जब जान-माल का भारी नुकसान होगा. दिल्ली-एनसीआर में यह सबसे बड़ा भूकंप आ सकता है."

इसके बाद संदेश को अपने सगे-संबंधियों तक भेजने के लिए लिखा गया है, "अपने उन सभी रिश्तेदारों या मित्रों तक इसे फैला दें जो दिल्ली एनसीआर में रहते हैं. यह भूकंप सबसे बड़ा होगा क्योंकि यह भारत में बड़े हिस्से (दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, जम्मू-कश्मीर से तमिलनाडु, राजस्थान से बिहार) तक फैलेगा. पाकिस्तान के रिक्टर पैमाने पर यह अधिकतम 4-4.2 हो सकता है. अगर संभव हो तो कम से कम एक सप्ताह के लिए दिल्ली एनसीआर से बाहर चले जाएं. लोगों की जान बचाने के लिए सरकार जल्द ही कार्रवाई करेगी. ज्यादा जानकारी के लिए www.nasaalert.com पर जाएं."

अब चलिए जानते हैं इस संदेश की सच्चाई. पहली नजर में यह WhatsApp मैसेज एक अफवाह सा ही नजर आता है. और हकीकत में भी यह एक अफवाह ही है. इसके पीछे एक नहीं तीन प्रमुख वजहें हैं.

  1.  दरअसल इसमें कोई दो राय नहीं विज्ञान ने काफी तरक्की कर ली है और यह भविष्य में होने वाली आपदाओं के बारे में सचेत कर सकता है. यूं तो सूनामी के खतरे की चेतावनी देने के लिए अलार्म सिस्टम तो विकसित कर लिए गए हैं, लेकिन अभी तक भूकंप की भविष्यवाणी करने की तकनीक विकसित नहीं हो पाई है. दुनिया भर के वैज्ञानिक इसका समाधान खोजने में जुटे हुए हैं.
  2.  इस WhatsApp संदेश में ज्यादा जानकारी के लिए जिस वेबसाइट (www.nasaalert.com) का हवाला दिया गया है, वो दरअसल में फर्जी वेबसाइट है. NASA की आधिकारिक वेबसाइट का पता www.nasa.gov है.
  3.  नासा ने इस संबंध में यानी भूकंप को लेकर अभी तक कोई भी आधिकारिक घोषणा या चेतावनी जारी नहीं की है.

इसलिए पूरी तरह से यह कहा जा सकता है कि यह संदेश सिर्फ अफवाह है और आपको चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है. आराम से रहें और फिलहाल कोई खतरा नजर नहीं आता.

First published: 21 March 2018, 15:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी