Home » दिल्ली » MCD Election 2017: Polling completes in Delhi
 

MCD Elections 2017: गर्मी का दिखा असर, दिल्ली में मतदान संपन्न

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 April 2017, 19:24 IST

दिल्ली में रविवार को हुई नगर निगम चुनाव की मतदान प्रक्रिया संपन्न हो गई है. छुट्टी के दिन यानी रविवार को तेज गर्मी में 270 वार्डों के लिए हुए मतदान में दिल्लीवालों की बेरुखी नजर आई और मतदान के आंकड़े बहुत बेहतर नजर नहीं आए. शाम चार बजे तक केवल 43 फीसदी मतदान ही हो सका. हालांकि अंतिम आंकड़े फिलहाल आने बाकी हैं.

रविवार सुबह शुरू हुए मतदान के बाद काफी देर तक मतदान केंद्रों के बाहर मतदाताओं की भीड़ ही नजर नहीं आई और आलम यह रहा कि दोपहर 12 बजे तक केवल 24 फीसदी मतदान ही हुआ.

 

उम्मीद जताई जा रही थी कि दिन ढलने के साथ ही मतदाता घरों से बाहर निकलेंगे और मतदान प्रतिशत में इजाफा होगा, लेकिन ऐसा नहीं हुआ और चुनाव आयोग द्वारा जारी आंकड़ों से पता चला कि दोपहर दो बजे तक करीब 34 फीसदी मतदान ही हुआ. इसके बाद शाम 4 बजे तक 43 फीसदी मतदान ही दर्ज किया गया.

गौरतलब है कि दिल्ली में रविवार को तीनों MCD के लिए मतदान हुआ. इस बार कुल 13,141 पोलिंग स्टेशन बनाए गए थे, जिसमें 799 संवेदनशील और 208 अतिसंवेदनशील मतदान केंद्र थे.

 

सुबह 8 बजे से कुल 272 में से 270 सीटों पर वोटिंग शुरू हुई गई है. 2 सीटों पर उम्मीदवारों की मृत्यु हो जाने के कारण वोटिंग नहीं हो सकेगी. सराय पीपल थला और मौजपुर वार्ड में प्रत्याशियों के निधन से वोटिंग टल गई है.

एमसीडी में भाजपा का 10 साल से कब्जा है. आम आदमी पार्टी, भाजपा पर लगातार एमसीडी को लेकर भ्रष्टाचार और कई आरोप लगाती रही है. इस बार आम आदमी पार्टी को काफी उम्मीदें हैं.

 

लेकिन अगर पार्टी चुनाव में बेहतर प्रदर्शन करती तो पार्टी के लेकर अच्छी खबर होगी. लेकिन अगर पार्टी का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा तो पार्टी को आगे दिक्कत आएंगी और अपने नेताओं के असंतुष्ट रवैये पर भी ध्यान देना होगा.

इस चुनाव में बीजेपी ने दिल्ली सरकार पर कई हमले किए. दिल्ली एमसीडी चुनाव में बीजेपी दिल्ली सरकार की नाकामियों को मुद्दा बनाया. बीजेपी, रविकिशन से प्रचार कराया है ताकि एक खास इलाके के लोग बीजेपी के पक्ष में वोट कर सकें.

चुनाव में सुरक्षा की जिम्मेदारी दिल्ली पुलिस और अर्धसैनिक बल के 56 हजार जवानों को सौंपी गई. मतदान के लिए 13,000 से अधिक मतदान केंद्र बनाए गए हैं.

First published: 23 April 2017, 19:24 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी