Home » दिल्ली » MCD Election Results: Delhi Congress Chief Ajay Makan resigns after defeat
 

MCD में हार के बाद दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन का इस्तीफ़ा

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 April 2017, 12:14 IST
(फाइल फोटो)

एमसीडी चुनाव में हार के बाद दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय माकन ने इस्तीफ़ा दे दिया है. एमसीडी के तीनों नगर निगमों में भाजपा साफ बहुमत हासिल करती दिख रही है. आम आदमी पार्टी दूसरे, जबकि कांग्रेस तीसरे नंबर पर है. 

कांग्रेस की हार की जिम्मेदारी लेते हुए अजय माकन ने कहा, "2015 में मैंने पार्टी की जिम्मेदारी संभाली थी. विधानसभा चुनाव में हमें हार मिली थी. हमें एक भी सीट नहीं मिल सकी थी, लेकिन पिछले कई चुनाव से हमारा वोटबैंक लगातार बढ़ रहा है. चाहे राजौरी गार्डन उपचुनाव की बात हो या अभी का चुनाव. मैं हार की जिम्मेदारी लेता हूं और मैं दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के पद से इस्तीफा देने जा रहा हूं." 

अगले एक साल तक नहीं लेंगे पद

अजय माकन ने मीडिया से बातचीत में कहा कि वे कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी को अपना इस्तीफा सौंपने जा रहे हैं. इसके साथ ही माकन ने कहा कि वे अगले एक साल तक के लिए पार्टी में कोई पद नहीं लेंगे. 

अजय माकन ने इस दौरान कहा, "अगले एक साल तक के लिए मैं कांग्रेस पार्टी में कोई पद नहीं लूंगा. मैं एक सामान्य पार्टी कार्यकर्ता की तरह काम करूंगा."

'पारंपरिक वोट बैंक लौटा'

अजय माकन ने इस दौरान कहा कि कांग्रेस पार्टी का पारंपरिक वोट बैंक लौट रहा है. ये कांग्रेस के लिए अच्छा संकेत है. माकन ने कहा, "हमने बेहतर ढंग से वापसी की है, लेकिन मैंने इससे अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद की थी." 

इस दौरान माकन ने कांग्रेस में उनके विरोध को लेकर उठ रहे स्वर पर कहा कि मुझे पता नहीं कि लोग क्यों पार्टी छोड़ रहे हैं. कांग्रेस से लोग विचारधारा के आधार पर जुड़ते हैं. अगर कोई पार्टी उन्हें केवल पद का लालच देकर जोड़ती है, तो ये सही नहीं है. गौरतलब है कि कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरविंदर सिंह लवली और दिल्ली महिला कांग्रेस अध्यक्ष बरखा शुक्ला सिंह ने एमसीडी चुनाव से पहले भाजपा ज्वाइन की है. 

'शीला जी पर नहीं बोलूंगा'

शीला दीक्षित और संदीप दीक्षित को लेकर अजय माकन ने कहा, "शीला जी का मैं बहुत सम्मान करता हूं. मैंने उनसे बहुत कुछ सीखा है. संदीप पता नहीं क्यों मेरा विरोध कर रहे हैं."

साथ ही माकन ने कहा कि वे भाजपा की जीत पर मनोज तिवारी को बधाई देते हैं. वहीं ईवीएम के मुद्दे पर माकन ने कहा कि चुनावी व्यवस्था पर लोगों का भरोसा बना रहना चाहिए. लिहाजा चुनाव आयोग को ईवीएम छेड़छाड़ को लेकर आ रही शिकायतों पर विपक्षी दलों की दिक्कत दूर करनी चाहिए.  

माकन ने कहा, "इलेक्शन कमीशन को ईवीएम पर जांच करनी चाहिए. अगर हम ईवीएम पर भरोसा कर सकते हैं. तो हमें चुनाव आयोग पर भी भरोसा करना चाहिए."

First published: 26 April 2017, 11:56 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी