Home » दिल्ली » More than 200 men caught every month in Delhi metro women’s coaches, CISF Kali Commando caught them
 

दिल्ली मेट्रो में यात्रा करने से पहले जान लें ये जरूरी बातें नहीं तो देना होगा जुर्माना

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 September 2018, 15:06 IST

इस साल औसतन, हर महीने दिल्ली मेट्रो में 200 से अधिक पुरुष यात्रियों को महिला कोच से पकड़ा गया है. आंकड़ों के मुताबिक, इस साल जुलाई तक 1,592 पुरुष यात्रियों को महिला कोच से बाहर निकाला गया और जुर्माना भी लगाया गया,  मतलब प्रति माह लगभग 223 पुरुष यात्रियों को पकड़ा गया  पिछले वर्ष से 30% की वृद्धि हुई है.

साल 2017 में, महिलाओं के कोच में 2,081 पुरुष यात्रा कर रहे थे, जो औसतन प्रति माह 173 यात्रियों का है. इन लोगों को केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (CISF) की विशेष महिला कमांडो इकाई, 'काली' द्वारा पकड़ा गया था.

दिल्ली मेट्रो रेल निगम यानि डीएमआरसी हर मेट्रो ट्रेन का पहला कोच महिलाओं के लिए सुरक्षित रखता है. इन कोचों में यात्रा करने वाले पुरुष 250 रुपये तक जुर्माना लगाए जाते हैं.

सीआईएसएफ के सहायक निरीक्षक जनरल हेमेंद्र सिंह ने कहा "हमने महिलाओं के कोचों में यात्रा करने वाले पुरुषों की संख्या में वृद्धि देखी है. यह भी इसलिए है क्योंकि हमने अपने ऑपरेशन को तेज कर दिया है. हमारे काली कमांडो इन पुरुषों को पकड़ते हैं और डीएमआरसी अधिकारियों द्वारा इनपर जुर्माना लगाया जाता है.

इस तरह की एक ड्राइव हर दिन लगभग सभी स्टेशनों पर की जाती है. ये महिला कमांडो चेक रखने के लिए ट्रेनों में यात्रा करती हैं. उनकी टीम भी प्लेटफार्मों पर तैनात रहती है और महिलाओं के कोच से बाहर निकलने वाले पुरुषों को पकड़ती है.

First published: 11 September 2018, 15:06 IST
 
अगली कहानी