Home » दिल्ली » NGT fines Delhi government Rs 50 crore for not taking action against illegal steel pickling units
 

प्रदूषण: केजरीवाल की इस गलती को लेकर NGT ने ठोका 50 करोड़ का जुर्माना

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 October 2018, 15:48 IST
(file photo )

नैशनल ग्रीन ट्राइब्यूनल (एनजीटी) ने प्रदूषण रोकने में नाकाम रहने पर दिल्ली सरकार पर 50 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है. दिल्ली सरकार के करीब 62 बड़ी यूनिट्स पर लगाम लगाने में नाकाम रहने को लेकर एनजीटी ने नाराजगी जताई है. एनजीटी ने कहा है कि दिल्ली सरकार ने उसके आदेश का पालन नहीं किया है.

मीडिया खबरों के मुताबिक, एनजीटी ने दिल्ली सरकार पर जुर्माना लगाते हुए कहा है कि हमारे बार-बार दिए गए आदेशों का पालन अब तक नहीं किया गया है. डीपीसीसी ने की तरफ से अभी तक हलफनामा तक नहीं दिया गया है. एनजीटी ने पूछा कि क्यों इन यूनिट्स के लिए बिजली और पानी के कनेक्शन दिए गए हैं. एनजीटी ने कहा कि क्या इसके लिए डीपीसीसी के चेयरमैन को गिरफ्तार करने के लिए आदेश दे दिए जाएं.   

आपको बता दें कि दिल्ली एनसीआर में ठंड बढ़ने के साथ ही हवा जहरीली होने लगती है. प्रदूषण का स्तर बढ़ जाता है. हालातों से निपटने के लिए दिल्ली में GRAP यानी GRADED RESPONSE ACTION PLAN लागू कर दिया गया है. इसके अनुसार, दिल्ली में PM 2.5 का स्तर 100 और PM 10 का स्तर 250 के आसपास पहुंचते ही GRAP के पहले चरण को लागू कर दिया गया है.जिसके तहत बदरपुर थर्मल पावर प्लांट और दिल्ली में डीज़ल से चलने वाले जेनरेटर सेट के इस्तेमाल पर भी पाबंदी लगा दी गई है.

ये भी पढ़ें- AAP सरकार के परिवहन मंत्री इनकम टैक्स के निशाने पर, 16 स्थानों पर छापेमारी

First published: 16 October 2018, 15:44 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी