Home » दिल्ली » pollution in Delhi-NCR has reached alarming levels. Due to burning by the farmers of Haryana and Punjab, major disaster is knocking at NCR
 

दिल्ली-NCR में आई बड़ी आफत, जहरीली हवा जिंदगी नहीं...दे रही मौत की सौगात

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 October 2018, 11:54 IST

कहते हैं हमारी जिंदगी सांसों से चलती है लेकिन अगर सांसों से जहरीली हवा शरीर में जाएं तो ये सांसे ही हमारी जिंदगी छीन कर हमें मौत की सौगात दे देगी. दिल्ली-NCR में प्रदुषण का प्रकोप खतरनाक स्तर तक पहुंच गया है. राजधानी में रहने वालों को बड़ी समस्या का सामना करना पड़ा सकता है.

हरियाणा और पंजाब के किसानों द्वारा पराली जलाने की वजह से बड़ी आफत NCR में दस्तक दे रही है और जल्द ही यहां सांस लेना भी मुश्किल जाएगा. पूरे एनसीआर को प्रदूषण की काली परछाई जल्द अपने आगोश में ले लेगी. दिल्ली-NCR में रहनेवाले 2.5 करोड़ लोग इससे बुरी तरह प्रभावित होंगे. जहरीली हवा से सांस की बीमारी, फेफड़े की बीमारी यहां तक कि कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी हो सकती है.

दिल्ली की हवा लगातार जहरीली होती जा रही है. रविवार सुबह छुट्टी की वजह से दिल्ली-एनसीआर की सड़कों पर वाहनों का दबाव बहुत कम है इसके बावजूद दिल्ली की हवा में प्रदूषण की मात्रा काफी ज्यादा रही.

रविवार सुबह जारी एयर इंडेक्स में दिल्ली के आइआइटी जहांगीरपुरी (235) में प्रदूषण का स्तर सबसे खतरनाक लेवल पर मापा गया. आनंद विहार में प्रदूषण स्तर 189 और मंदिर मार्ग पर भी प्रदूषण स्तर 180 के स्तर पर रहा. प्रदूषण नियंत्रण विभाग के अनुसार आने वाले दिनों में प्रदूषण स्तर में और बढ़ोतरी होने की आशंका है.

 

जहरीली हवा 

इस साल भी एयर क्वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च के अनुसार दिल्ली में हवा की क्वालिटी बेहद खराब हो चुकी है. दिल्ली में खराब हवा का कारण बढ़ते वाहन और दूसरी वजहें भी हैं लेकिन आसपास के किसानों द्वारा पराली का जलाया जाना दिल्ली के वायु प्रदूषण का सबसे बड़ा कारण जरूर माना जाता है.

First published: 14 October 2018, 11:54 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी