Home » दिल्ली » Yamuna river crosses danger mark: closed traffic on Old Yamuna Bridge and 27 trains cancelled
 

दिल्ली में खतरे के निशान के ऊपर यमुना, 150 साल पुराना पुल बंद, 27 ट्रेनें रद्द

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 July 2018, 12:27 IST
(Dr.Harsh Vardhan Tweet )

देश के कई हिस्सों में लगातार हो रही बारिश लोगों के लिए परेशानी बनती जा रही है. नदियों में पानी का स्तर बढ़ता जा रहा है. कई जगह बाढ़ का खतरा बना हुआ है. दिल्ली के आसपास के इलाकों में अधिक बारिश होने के बाद हरियाणा के हथिनी कुंड से लगातार पानी छोड़ा जा रहा है. जिसके चलते यमुना का जलस्तर बढ़ गया है. यमुना खतरे के निशान से करीब आधा मीटर ऊपर बह रही है. यमुना का जलस्तर 205.53 मीटर के ऊपर जाने के बाद ट्रैफिक पुलिस ने लोहे के पुल पर यातायत को दोनों तरफ से बंद कर दिया गया है.

इसके अलावा रेलवे ट्रेनों का परिचालन रोक दिया है. 27 पैसेंजर रेलगाड़ियों को रद्द कर दिया है. वहीं, 7 ट्रेनों का रूट बदला गया है. 14 मेल व एक्सप्रेस रेलगाड़ियों को नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से होते हुए चलाने का फैसला किया गया है. रेलवे ने यात्रियों को यमुना के जसस्तर के बारे में हर मिनट पर जानकारी देने के लिए एक उपकरण लगाया है. इसके द्वारा यमुना के पानी के बारे में रेल यात्रियों के पास मैसेज पहुंच रहा है.

यमुना में बढ़ते जलस्तर के बाद रेलवे ने ट्रेनों का परिचालन रोक दिया है. 27 पैसेंजर रेलगाड़ियों को रद्द कर दिया है. वहीं, 7 ट्रेनों का रूट बदला गया है. 14 मेल व एक्सप्रेस रेलगाड़ियों को नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से होते हुए चलाने का फैसला किया गया है. रेलवे ने यात्रियों को यमुना के जसस्तर के बारे में हर मिनट पर जानकारी देने के लिए एक उपकरण लगाया है. इसके द्वारा यमुना के पानी के बारे में रेल यात्रियों के पास मैसेज पहुंच रहा है.

ट्रैफिक पुलिस ने भी यमुना पर बने लोहे के पुल को दोनों तरफ से बंद कर दिया है. यातायात को पूरी तरह से रोक दिया है. लोहे पुल के निचले हिस्से में बनी सड़क पर यातायात रविवार को ही बंद कर दिया गया था. बता दें कि यमुना का जलस्तर बढ़ने के बाद शहादरा जिले के जिलाधिकारी ने एक पत्र लिख लोहे के पुल पर यातायात को रोकने का आदेश जारी किया था. जिसके बाद पुल पर यातायात को रोक दिया गया है. बता दें कि हथिनी कुंड बैराज से पानी छोड़े जाने के चलते वर्ष 1978 में भी यमुना का जल स्तर लोहा ब्रिज के करीब 207.49 मीटर तक पहुंच गया था. यमुना में पानी का स्तर 204.83 मीटर से अधिक जाने पर इसे खतरनाक स्तर माना जाता है.

ये भी पढ़ें- दोपहर बाद आधी दिल्ली आ सकती है बाढ़ की चपेट में, हरियाणा ने छोड़ा आफत का पानी

First published: 30 July 2018, 12:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी