Home » दिल्ली » yogendra yadav writes open letter to kapil-mishra.
 

कपिल मिश्रा को लिखे योगेंद्र यादव के इस ख़त से केजरीवाल ख़ुश तो बहुत होंगे...

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 May 2017, 15:28 IST

आम आदमी पार्टी के पूर्व सदस्य और स्वराज इंडिया के संयोजक  योगेंद्र यादव ने आप के बर्खास्त मंत्री कपिल मिश्रा को फेसबुक पर लेटर लिखा है. अपने खत में योगेंद्र यादव ने कपिल मिश्रा को नसीहत देते हुए लिखा है, कि ‘नकारात्मकता की राजनीति न देश के हित में है, न ही आपके हित में.

योगेंद्र यादव ने कपिल मिश्रा को नसीहत दी कि "ये रोज-रोज अरविन्द केजरीवाल के खिलाफ प्रेस कॉन्फ्रेंस करनी बंद कर दीजिये.  मैं नहीं कहता कि आपके सारे आरोप गलत हैं. कुछ आरोप वजनदार हैं, हालांकि बाकी का अभी कोई प्रमाण नहीं है. लेकिन दिन-रात आरोपों की झड़ी सुनने से आम आदमी पार्टी तो साफ़ नहीं होगी, ईमानदार राजनीति में जनता की जितनी भी आस्था बची है वो जरूर साफ़ हो जाएगी."

कपिल मिश्रा की माफी पर उन्होंने अपने खत में लिखा, "कल प्रेस कॉन्फ्रेंस में आपकी क्षमायाचना सुनी. मुझे लगा कि प्रशांत जी और मुझसे (और साथ में आनंद जी और अजीत भाई से) माफ़ी मांगने की बजाय उन हज़ारों वॉलंटियर, लाखों समर्थकों और करोड़ों देशवासियों से माफ़ी मांगनी चाहिए थी, जिनके साथ धोखा हुआ है. मुझे अच्छा लगा कि आपने भी शाम तक मेरी इस बात का समर्थन किया. गलती कौन नहीं करता, लेकिन माफ़ी मांगने की हिम्मत हर कोई नहीं करता."

 योगेंद्र यादव ने लेटर में आगे लिखा, "आपकी सार्वजनिक माफी से कई लोगों के पुराने घाव भरने में मदद मिलेगी. मुझे और प्रशांत भूषण पर झूठे आरोप लगाकर पार्टी से बाहर निकाल दिया गया. आपकी और अपने कई साथियों की भूमिका देखकर मेरा इंसानियत से भरोसा उठ गया. सोचिये मुझे कैसा लगा होगा जब आपके ही मुंह से गद्दारी का आरोप सुना?"

दरअसल कपिल मिश्रा ने हाल ही में योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण से माफी मांगी थी. यह माफी कपिल मिश्रा ने अपने उन बयानों के लिए मांगी थी, जब योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण को पार्टी ने बाहर निकाला गया था. उस वक्त कपिल मिश्रा ने उन्हें गद्दार करार दिया था.

First published: 22 May 2017, 15:28 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी