Home » Education News » B.Ed course will soon turn into 4 years teacher training programme, to better the teaching quality in education system
 

B.Ed को लेकर सरकार करने जा रही है ये बदलाब,अब 2 के बजाय 4 साल का होगा बीएड

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 March 2018, 13:38 IST

देश की शिक्षा व्यवस्था के मद्देनज़र सरकार बीएड कोर्स में फिर से बदलाव करने जा रही है. पहले सरकार बीएड 1 साल का कोर्स था जिसे बढ़ा कर के सरकार ने 2 साल का कर दिया है. अब ऐसी खबर है की 2 साल की जगह इसे 4 साल का कर दिया जाए.

टीचर स्तर को सुधारने के लिए सरकार बैचलर ऑफ एजुकेशन यानी बीएड कोर्स में एक बार फिर बदलाव करने जा रही है, जिसमें दो साल के बीएड कोर्स को खत्म कर 4 साल का इंटीग्रेटेड बीएड कोर्स शुरू किया जाएगा. पहले बीएड कोर्स एक साल का था जिसे बदलकर दो साल का कर दिया गया था. लेकिन अब इस कोर्स में फिर से बदलाव किया जा रहा है.

12वीं के बाद ले सकेंगे एडमिशन

इंटीग्रेटेड बीएड कोर्स शुरू होने के बाद 12वीं पास छात्रों को फायदा मिल सकता है. 12वीं पास छात्र बीएड की पढ़ाई कर सकेंगे. फिलहाल एजुकेशन सिस्टम के अनुसार वहीं छात्र बीएड में एडमिशन ले सकते हैं जिन्होंने ग्रेजुएशन पास किया हो.

ये भी पढ़ें- राजस्थान: वसुंधरा सरकार ने लड़कियों से छीनी जीन्स पहनने की आज़ादी

एचआरडी मिनिस्ट्री के अधिकारियों के मुताबिक इसका मकसद यह भी है कि वहीं लोग टीचिंग प्रफेशन में आएं जो इसे लेकर गंभीर हैं. क्योंकि वह जैसा पढ़ेंगे वैसी ही शिक्षा छात्रों को देंगे. एजुकेशन सिस्टम में सुधार लाना है, तो पहले टीचर स्तर में सुधार लाना जरूरी है.

बीएड राज्य प्रवेश परीक्षा के स्टेट कोआर्डिनेटर प्रो एनके खरे ने बताया कि, संभव है कि यह अंतिम दो साल का बीएड कोर्स हो सकता है. अगर चार साल का बीएड शुरू हो जाएगा तो इसे बंद करने की पूरी संभावना है.
सवाल ये भी उठता है की इससे कोर्स की अवधी बढ़ाने से छात्रों और बेरोजगारों पर क्या असर पड़ेगा. करियर सेलेक्शन को लेकर छात्रों की मुसीबत कितनी काम होगी या बढ़ेगी ये तो प्रस्ताव लागू होने के बाद ही पता चलेगा.

ये भी पढ़ें- CBSE NEET 2018: ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की डेट बढ़ी, जाने क्या है नई तारीख

 

First published: 9 March 2018, 13:38 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी