Home » Education News » CBSE Board Exam: cbse changed its marking pattern only 33% will be required to qualify the 10th board exam
 

सीबीएसई बोर्ड एग्जाम: छात्रों का बोझ होगा कम सीबीएसई ने किया ये बड़ा बदलाव

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 February 2018, 15:12 IST

सीबीएसई ने बोर्ड परीक्षाओं के लिए बदलाव किया है. अब 10वीं की बोर्ड परीक्षा देने वाले परीक्षार्थियों ले लिए राहत की खबर है. केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने दसवीं कक्षा के विद्यार्थियों के पास होने का मानदंड बदल दिया है. अब आंतरिक व बोर्ड परीक्षा के मूल्यांकन को मिलाकर 33 फीसद अंक प्राप्त करने वाले विद्यार्थी भी पास हो जाएंगे.

यह भी पढ़ें- Railway Recruitment 2018: 10वीं पास उम्मीदवारों के लिए भर्तियां

पहले विद्यार्थियों को पास होने के लिए आंतरिक व बोर्ड परीक्षा में अलग-अलग 33 फीसद अंक प्राप्त करने होते थे. साल 2017- 18 की दसवीं की बोर्ड परीक्षा में विभिन्न परीक्षार्थियों की परिस्थतियों को देखते हुए सीबीएसई की परीक्षा समिति ने 16 फरवरी को हुई बैठक में यह फैसला लिया है. हालांकि, पास होने का यह मानदंड सिर्फ इसी सत्र की बोर्ड परीक्षा के लिए लागू रहेगा.

सीबीएसई अध्यक्ष अनिता करवल द्वारा जारी नोटिफिकेशन के अनुसार वर्ष 2018 में परीक्षा दे रहे दसवीं के विद्यार्थियों के लिए यह बदलाव किया गया है. इसके तहत 20 अंक वाली आंतरिक परीक्षा व 80 अंक वाली विषय परीक्षा के अंकों को मिलाकर 33 फीसद अंक प्राप्त करने वाले विद्यार्थी पास माने जाएंगे.

यह भी पढ़ें- 10वीं पास को मिलेगा सरकारी का मौका, 25 हज़ार मिलेगी सैलरी
बोर्ड ने कुछ दिन पहले ही बोर्ड परीक्षा के लिए एडमिट कार्ड जारी किया था. छात्र अपने स्कूल से एडमिट कार्ड ले सकते हैं. बोर्ड ने प्री-बोर्ड परीक्षा में खराब प्रदर्शन करने वाले छात्रों को भी एडमिट कार्ड देने की बात कही थी.

First published: 28 February 2018, 15:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी