Home » Education News » CBSE: Central Board of Secondary Education is likely to change Exam pattern for class 10 and 12th, guideline send to HRD
 

CBSE: 10वीं और 12वीं परीक्षा पैटर्न में बड़ा बदलाव, अब मुश्किल होगा ज्यादा मार्क्स लाना

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 August 2018, 17:10 IST

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (CBSE) 10वीं और 12वीं के परीक्षा पैटर्न में बड़ा बदलाव करने जा रहा है. CBSE के इस नए गाइड लाइन लागू होने के बाद छात्रों को ज्यादा अंक लाने में काफी मुश्किल होगी. हाईएस्ट मार्क्स लाने के लिए स्टूडेंट्स को अब कड़ी मेहनत करनी होगी. प्राप्त जानकारी के मुताबिक CBSE अगले साल से अपना यह नया एग्जाम पैटर्न लागू करेगा.

साल 2019-2020 से 10वीं और 12वीं की परीक्षा में एनालिटिकल / विश्लेषणशनात्मक सवाल पूछे जाएंगे. वोकेशनल विषयों की परीक्षा पहले ली जाएगी. इसके साथ ही परीक्षा के रिजल्ट भी कम समय में जारी किए जाने का प्यास किया जाएगा. सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन ने नए बदलावों से जुड़ी गाइडलाइन्स मानव संसाधन मंत्रालय को सौंप दी है.

TOI न्यूज पेपर की एक रिपोर्ट के मुताबिक़, CBSE के अधिकारियों ने बताया कि नया एग्जाम पैटर्न विश्लेष पर आधारित होगा, इससे स्टूडेंट्स के आंकलन करने की क्षमता और प्रेजेंस ऑफ़ माइंड को परखने और उसे बढ़ाने का काम करेगा. इस बदलाव का मकसद स्टूडेंट्स की लर्निंग प्रोसेस और मानसिक स्तर को बढ़ाना होगा.

ये भी पढ़ें-सरकारी टीचर के पदों पर निकली बंपर वैकेंसी, ऐसे करें आवेदन

CBSE के अनुसार छात्र सवालों को रटकर परीक्षा में पास तो हो जाते हैं पर इससे उनका मानिसक विकास नहीं हो पाता है. सत्र 2019-2020 से परीक्षा में 1 से 5 अंकों तक के ज्यादा शार्ट डिस्क्रिप्शन के सवाल पूछे जाएंगे.

CBSE अब नए मापदंड के आधार पर स्कूलों के एफिलिएशन और शैक्षणिक संस्थानों की अकेडमिक गुणवत्ता पर भी फोकस करेगा. स्कूलों में इंफ्रा-स्ट्रक्चर के निरीक्षण के बाद ही मान्यता प्रदान की जाएगी.

First published: 23 August 2018, 17:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी