Home » Education News » Cbse changed class 12 english core subject question paper pattern
 

 CBSE ने 12वीं क्लास के इस प्रश्न पत्र में हुआ बदलाव, छात्रों को होगा बड़ा लाभ

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 February 2019, 11:15 IST

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने 12वीं क्लास के बच्चों को राहत देते हुए के अंग्रेजी कोर के प्रश्न पत्र में बदलाव किया. इस बदलाव के तहत अब अंग्रेजी कोर के प्रश्न पत्र में 40 की जगह 35 प्रश्न ही पूछे जाएंगे. यानि अब 5 प्रश्न कम कर दिए जाएंगे.

बोर्ड के अनुसार ये बदलाव पाठ्यक्रम विशेषज्ञों के फीडबैक के बाद किया गया है.  CBSE द्वारा इस बात की जानकारी वेबसाइट के माध्यम से दी गई है.  बोर्ड ने रीडिंग और राइटिंग दोनों ही सेक्शन में बदलाव किए हैं. 

मालूम हो कि अंग्रेजी कोर सब्जेक्ट की परीक्षा 2 मार्च को होगी . इस परीक्षा के होने से पहले छात्रों को इस बात की जानकारी देने के लिए शिक्षकों और विद्यालय को कई निर्देश दिए गए हैैं. 

पैसेज में शब्दों की संख्या होगी कम

CBSE की मानें तो 2018 के प्रश्न पत्र पैटर्न में कई बदलाव किए गए हैं. अब तक पैसेज लिखने में छात्रों को काफी शब्दों में उत्तर देना होता था.  एक पैसेज करीब 1100 से 1200 और दूसरा पैसेज चार से पांच सौ शब्दों में लिखना होता था . इसको लेकर सीबीएसई ने छात्रों को राहत देते हुए पैसेज में शब्द संख्या कम कर दी है.  अब 1200 शब्द वाले पैसेज को 800 में ही उत्तर देना होगा .  सेक्शन ए यानी रीडिंग पार्ट में 30 अंकों के अब 19 प्रश्न रहेगा . अब तक 30 अंक के 24 प्रश्न रहते थे .

क्या-क्या हुए हैं मुख्य बदलाव

  • 40 की जगह अब 35 प्रश्न पूछे जाएंगे.
  • मल्टीपल च्वॉइस वाले प्रश्न की संख्या अब 5 होगी. 
  • रीडिंग और राइटिंग दोनों ही सेक्शन में किया गया बदलाव .
  • अति लघु उत्तरीय की संख्या 16 से कम करके 9 कर दी गई है.
  • लॉग क्वेश्चन एक की जगह 2 रहेगा. दीर्घ उत्तरीय 5-5 अंकों के होंगे.
  • पाठ्यक्रम विशेषज्ञों की बैठक में मिली फीडबैक पर CBSE ने लिया निर्णय.
  • वोकेबलरी वाले प्रश्नों की संख्या अब एक की जगह तीन होगी. यह वेरी शॉट क्वेश्चन में रहेगा.
  • शॉट क्वेशचन अब एक नहीं बल्कि 2-2 अंकों का होगा. सॉट क्वेश्चन में अब एक नहीं बल्कि 3 सवाल रहेंगे.

CBSE के सिटी कोऑर्डिनेटर राजीव रंजन ने कहा,  "अंग्रेजी कोर विषय में बदलाव किया गया है . यह बहुत ही कठिन होता था . इस कारण छात्र पढ़ना नहीं चाहते हैं . छात्रों की सुविधा के लिए बोर्ड ने इस बार से यह किया है . अंग्रेजी कोर अधिकतर केंद्रीय और नवोदय स्कूल के छात्र पढ़ते हैं."

सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया की शाखा में लगी भीषण आग, भारी नुकसान

First published: 23 February 2019, 10:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी