Home » Education News » CBSE has ordered mandatory health and physical program in all affliated schools
 

CBSE ने फिजिकल एजुकेशन को लेकर लिया बड़ा फैसला, ये होगा असर

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 March 2018, 17:56 IST

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने छात्रों को मानसिक और शारीरिक रूप से सक्षम बनाने के लिए एक बड़ा कदम उठाया है. सीबीएस ने 9वीं से लेकर 12वीं तक के लिए हेल्थ एंड फिजिकल एजुकेशन प्रोग्राम को अनिवार्य कर दिया है. अब 9वीं से लेकर 12वीं तक के छात्रों को हेल्थ और फिजिकल के विषयों की रेगुलर शिक्षा दी जाएगी. सीबीएसई के अनुसार इन विषयों को मेनस्ट्रीम कोर्स में शामिल किया जाएगा. इसको सेशन 2018-19 से ही शुरू किया जाएगा.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, सीबीएससई ने एक सर्कुलर जारी कर बताया है कि छात्रों को मानसिक और शारीरिक रूप से मजबूत बनाने के लिए हेल्थ और फिजिकल विषयों को पढ़ाने का फैसला लिया गया है. सीबीएसई ने कहा है कि इन विषयों को मुख्य सब्जेक्ट की तरह ही पढ़ाया जाएगा. इसका सिलेबस सीबीएसई द्वारा ही तैयार किया जाएगा. इन विषयों को सेशन 2018-19 से ही कोर्ट में शामिल किया जाएगा. इसके साथ ही विषयों की नियमित कक्षाएं लगाई जाएंगी. इसमें सभी छात्रों का उपस्थित होना अनिवार्य है.

सीबीएसई ने स्कूलों को निर्देश देते हुए कहा है कि वो हेल्थ और फिजिकल के विषयों के हिसाब से ही टाइम टेबल तैयार करें. एक पीरियड हेल्थ और फिजिकल की क्लास होना अनिवार्य है.

आपको बता दें कि इससे पहले 11वीं और 12वीं के छात्रों के लिए हेल्थ और फिजिकल की पढ़ाई विकल्प के तौैर पर होती थी. लेकिन अब सीबीएसई ने इसको 9वीं से लेकर 12वीं तक के लिए अनिवार्य कर दिया है.

First published: 23 March 2018, 17:56 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी