Home » Education News » CBSE made health and physical education compulsory for class 9th to 12th
 

CBSE का बड़ा फैसला, 9वीं से 12वीं कक्षा के लिए अनिवार्य होगी हेल्थ और फिजिकल एजुकेशन

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 April 2018, 9:33 IST

CBSE ने छात्र छात्राओं के बेहतर मानसिक व शारीरिक विकास के लिए 9वीं से 12वीं क्लास तक के लिए हेल्थ एंड फिजिकल एजुकेशन प्रोग्राम को अनिवार्य कर दिया है.

अगले सेशन यानि 2018-19 से मेनस्ट्रीम विषयों की तरह ही इस विषय को भी पढ़ाया जाएगा. इसका सिलेबस भी CBSE द्वारा तैयार किया जाएगा.

बोर्ड की ओर से जारी किए गए सर्कुलर में निर्देश दिए गए हैं कि बच्चों के मानसिक और शारीरिक विकास को ध्यान में रखते हुए ये फैसला लिया गया है. इसके अलावा इन विषयों की कक्षाएं रेगुलर चलेंगी. बता दें, पहले फिजिकल एजुकेशन कक्षाएं ऑप्शनल होती लेकिन नए सत्र से 9वीं से 12वीं के छात्रों को इन विषयों की कक्षाएं लेनी होगी.

ये भी पढ़ें- बड़ा सवाल: क्या POCSO एक्ट में बदलाव से रुक जाएंगी रेप की बढ़ती घटनाएं

सीबीएसई ने दिए स्कूलों को निर्देश

बोर्ड की ओर से निर्देश दिए गए हैं कि CBSE के सभी स्कूलों में इन विषयों को इसी सेशन से पढ़ाना अनिवार्य होगा. इसलिए स्कूल इन विषयों के हिसाब से अपना टाइम टेबल बनाएं. सीबीएससी ने कहा कि स्कूल में हमेशा एक पीरियड फिजिकल एजुकेशन और हेल्थ का शामिल करना जरूरी है.

पहले ये फिजिकल एजुकेशन 11वीं और 12वीं के छात्रों के लिए ऑप्शन के तौर पर होता था. लेकिन CBSE के ऐलान के बाद विषय हेल्थ एंड फिजिकल एजुकेशन को अब बोर्ड की ओर से अनिवार्य कर दिया गया है. इसके साथ ही कक्षा 9वीं और 10वीं के लिए भी ये अनिवार्य है. CBSE ने अब ये फैसला लिया है ताकि छात्रों का मानसिक के साथ शारीरिक विकास भी हो सके.

First published: 23 April 2018, 9:33 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी