Home » Education News » CBSE relaxes passing criteria for Class 10 students for board exam 2019
 

CBSE ने छात्रों को दी सबसे बड़ी राहत, बोर्ड परीक्षा में अब फेल भी होंगे पास

कैच ब्यूरो | Updated on: 12 October 2018, 15:31 IST

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने 10वीं के छात्रों को बड़ी राहत दी है. सीबीएसई ने यह पास होने की शर्त में यह छूट साल 2019 की 10वीं बोर्ड परीक्षा में शामिल होने वाले छात्रों को दी है.

सीबीएसई की चेयरमैन अनीता कारवाल ने कहा कि ''स्टूडेंट्स को राहत देने के लिए बोर्ड ने अगले साल 2019 से 10वीं के छात्रों के लिए पास होने की शर्त को आसान बनाने का फैसला लिया है. ''उन्होंने बताया कि छात्रों को पास होने के लिए थ्योरी और प्रैक्टिल (इंटरनल असेसमेंट), दोनों मिलाकर सम्मलित रूप से 33 फीसदी नंबर लाने होंगे.

इससे छात्रों को बड़ी राहत मिलने के आसार हैं क्योंकि वर्तमान नियम के अनुसार, पास होने के लिए थ्योरी और प्रैक्टिकल दोनों में अलग-अलग 33 प्रतिशत अंक लाने होने हैं. अलग-अलग मार्किंग सिस्टम के कारण जिन छात्रों को थ्योरी या इंटरनल असेसमेंट में कम नंबर आते थे वे उस विषय में फेल घोषित कर दिए जाते थे.

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की ओर से जारी ऑफिशियल नोटिफिकेशन में बताया गया है कि, ''अब साल 2019 से 10वीं क्लास की परीक्षा देने वाले छात्रों को भी यही पासिंग क्राइटेरिया दिया जाएगा मतलब पास होने के लिए थ्योरी और प्रैक्टिकल दोनों में मिलाकर 33 नंबर लाने होंगे.'' अगर स्टूडेंट प्रैक्टिकल या थ्योरी किसी भी परीक्षा में उपस्थित नहीं होगा तो उसमें उनका अंक जीरो माना जाएगा और उसी हिसाब से उसके कुल अंकों की गणना होगी.

First published: 12 October 2018, 15:31 IST
 
अगली कहानी