Home » Education News » Congress President Rahul Gandhi congratulated Asharam, son of a rag picker for Cracking AIIMS MBBS exam
 

राहुल गांधी ने 'कूड़ा उठाने वाले' के बेटे को दी बधाई, कहा आप लोगों के प्रेरणा का श्रोत बनेंगे

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 July 2018, 18:23 IST

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मध्य प्रदेश के एक "कूड़ा उठाने वाले" के बेटे आश्रम चौधरी को बधाई दी है. राहुल गांधी ने कहा कि वह राष्ट्र निर्माण में योगदान देंगे और भविष्य में लोगों के प्रेरणा के श्रोत बनेंगे. आशाराम ने अपने पहले प्रयास में ही मेडिकल के लिए देश की सबसे प्रतिष्ठित "एम्स" की MBBS प्रवेश परीक्षा पास कर ली.

राहुल गांधी ने एक पत्र लिखकर इस मेधावी छात्र को प्रोत्साहित करते हुए  कहा "मैं आपके पहले प्रयास में ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (AIIMS) प्रवेश परीक्षा में सफलता पाने और जोधपुर एम्स में बैचलर ऑफ मेडिसिन, बैचलर ऑफ सर्जरी (MBBS) में चयन के लिए  बधाई देता हूं. मैं आपको शुभकामनाएं देता हूं और आशा करता हूं कि "आप राष्ट्र निर्माण में योगदान देंगे."

ये भी पढ़ें-इस 'गुदड़ी के लाल' की उपलब्धि से हर कोई है हैरान, पिता आज भी बीनता है कूड़ा

आशाराम के पिता कूड़ा-कचरा, पन्नी, प्लास्टिक बीनकर अपना घर का खर्च चलाते हैं. इस साल आयोजित ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (AIIMS) के एंट्रेंस एग्जाम में उन्होंने 4.5 लाख उम्मीदवारों के बीच 707वीं रैंक  प्राप्त किया और ओबीसी केटेगरी में 2 लाख परीक्षार्थियों के बीच 141वा पोजीशन हासिल किया है.

भयानक गरीबी के थपेड़ों को झेलता एक प्रतिभाशाली लड़का

आशाराम मध्य प्रदेश के देवास से करीब 40 किलोमीटर दूर विजयागंज मंडी के रहने वाले हैं. उनके पिता का नाम रणजीत चौधरी और माता ममता बाई है. उनका एक छोटा भाई भी है जो नवोदय विद्यालय में पढ़ाई कर रहा है. साल 2000 में जन्मे आशाराम ने बचपन से ही गरीबी के झंझावात को झेला है.

कई रातें उन्होंने भूखे पेट रहकर गुजारी है. उनके पास सिर्फ एक घास-फूस की झोपडी है. उनके पिता कहते हैं उनके पास कुछ भी धन दौलत नहीं है लेकिन सबसे बड़ी संपत्ति उनका बेटा ही है.

First published: 23 July 2018, 18:23 IST
 
अगली कहानी